comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

नेशनल सेमिनार में पंचकर्म पर हुई चर्चा, तो कहीं जंगल की सैर पर निकले विद्यार्थी

नेशनल सेमिनार में पंचकर्म पर हुई चर्चा, तो कहीं जंगल की सैर पर निकले विद्यार्थी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आयुर्वेद महाविद्यालय द्वारा वैद्य रामनारायण शर्मा की स्मृति में नेशनल सेमिनार "पंचकर्म अपडेट-2019 एंड वर्कशाॅप दृष्टकर्म' का आयोजन किया गया। दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद नई दिल्ली के अध्यक्ष डॉ. जयंत देवपुजारी ने किया। डॉ. देवपुजारी ने संबोधन में आयुर्वेद की वैज्ञानिकता का विवेचन करते हुए पंचकर्म की तकनीकों की मानकीकरण की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। समारोह की अध्यक्षता सुरेश शर्मा ने की। इस अवसर प्रमुख अतिथि के रूप में भारत सरकार के आयुर्वेद सलाहकार वैद्य मनोज नेसरी, डॉ. अनूप ठाकर, महाराष्ट्र आरोग्य विज्ञान विद्यापीठ से डॉ. जयश्री म्हैसकर, वैद्य वेदप्रकाश शर्मा, सचिव डॉ. गोविंद प्रसाद उपाध्याय, डॉ. रामेश्वर पांडेय, सदस्य डॉ. संतोष शर्मा, महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. मोहन येवले, राष्ट्रीय संगोष्ठी के आयोजन सचिव डॉ. सचिन चंडालिया, सहसंयोजक डॉ. रमण बेलगे, संगोष्ठी सहसचिव डॉ. समीर गिरडे मंच पर उपस्थित थे। संचालन डॉ. मृत्युंजय शर्मा एवं डॉ. गायत्री व्यास ने किया। प्राचार्य डॉ. मोहन येवले ने आभार माना। समारोह में दिल्ली से डॉ. वीणा शर्मा, छत्तीसगढ़ से डॉ. अरुणा ओझा,  शहर के विभिन्न आयुर्वेद महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. हर्षला शर्मा, डॉ. मधुसूदन गुप्ता, डॉ. बघेल, डॉ. शैलेन्द्र अग्रवाल, डॉ. अर्चना दाचेवार, कोषाध्यक्ष डॉ. जगमोहन राठी, डॉ. राजेश गुरु, डॉ. महेन्द्र अग्रवाल, डॉ. धनराज गहूकर आदि उपस्थित थे।

विद्यार्थियों ने की जंगल की सैर

वहीं जिले के प्रसिद्ध मोगली पेंच बाघ परियोजना में मंगली गांव में स्कूली छात्रों ने वन्यजीव सप्ताह मनाया। यहां संचालित सतपुड़ा फाउंडेशन द्वारा विभिन्न गांवों में तरह-तरह के कार्यक्रम  आयोजित किए गए। जिला परिषद उच्च प्राथमिक शाला सावरा के बच्चों ने गांव में रैली निकालकर वन्यजीवन संवर्धन के लिए जनजागृति की। रैली के माध्यम से वन्यजीव सप्ताह का महत्व सभी को बताया गया। इस अवसर पर आयोजित चित्रकला स्पर्धा में 40 विद्यार्थी व निबंध स्पर्धा में 60 विद्यार्थियों ने भाग लिया। इसके साथ ही घाटपेंढरी गांव में भी रैली के माध्यम से जनजागृति की गई। सतपुड़ा फाउंडेशन के संवर्धन अधिकारी बंडू उईके ने विद्यार्थियों को प्रकृति की सैर कराई व व्याख्यान के माध्यम से प्रकृति की खूबियों को बताया। कार्यक्रम के दूसरे दिन वन्यजीव संवर्धन विषय पर फिल्म भी दिखाई गई। इसी के अंतर्गत जिला परिषद की विभिन्न शालाओं, जिसमें कडबीखेड़ा, खापा, झिंझेरिया, घोटी में भी कार्यक्रमो का आयोजन किया गया।

फुटपाथ शाला के बच्चों को दी गई शालेय सामग्री

उधर "उपाय' संस्था द्वारा संचालित फुटपाथ शाला सीताबर्डी शाखा को हथेली अग्रवाल महिला संस्था ने सहयोग के रूप में शालेय सामग्री प्रदान की। संस्था अध्यक्ष संतोष अग्रवाल की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में हथेली संस्था ने एक साइकिल भेंट दी, साथ ही फुटपाथ शाला के सभी बच्चों को शालेय सामग्री का वितरण किया। शाला की छात्रा शीतल चाकर जिसने धीरण कन्या विद्यालय से दसवीं पास की है, उसे ग्यारहवीं की पढ़ाई के लिए साल भर लगने वाला स्टडी मटेरियल व जरूरत का सामान दिया गया। कार्यक्रम में ‘उपाय’ की डायरेक्टर अर्चना श्रीवास्तव, पी. आर. देबोश्री भट्टाचार्या, भोजन ऑफिसर एेश्वर्या साठे, सेंटर प्रमुख किरण कलंत्री, ‘हथेली’ की जानकी अग्रवाल, उर्मिला अग्रवाल, शंकुलता अग्रवाल, मिथलेश अग्रवाल, पुष्पलता अग्रवाल, पुष्पा अग्रवाल, जयश्री अग्रवाल, प्रीति संघी, सुशीला अग्रवाल, सविता अग्रवाल आदि उपस्थित थीं। 

कमेंट करें
ZEW0G
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।