comScore

बारिश से बहा डायवर्सन, आवागमन बाधित -डायसर्वन कार्य में घटिया निर्माण की बारिश ने खोल दी पोल

बारिश से बहा डायवर्सन, आवागमन बाधित -डायसर्वन कार्य में घटिया निर्माण की बारिश ने खोल दी पोल

डिजिटल डेस्क शहडोल । जिले में अभी भारी बरसात का दौर शुरु नहीं हुआ है, लेकिन जितनी बारिश हुई वह प्रशासन के घटिया निर्माण की पोल खोलने के लिए पर्याप्त है। संभागीय मुख्यालय से लगे कल्याणपुर रोड में मुडऩा नदी पर तथा दूरांचल भानपुर में केरहा के पास बने डायवर्सन हल्की बरसात में ही बह गए। कल्याणपुर रोड के डासवर्सन में कुछ हिस्सा बचा है, लेकिन भानपुर में तो पूरी मिट्टी ही बह गई। रास्ता बंद हो जाने के कारण दर्जनों के गांव के लोगों को कई किलोमीटर घूमकर अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ रहा है।
डर-डर कर निकलते हैं वाहन
शहडोल शहर से होकर कल्याणपुर की ओर गुजरी प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क  का निर्माण 2 वर्ष पहले पूरा हो चुका है। कल्याणपुर के पहले मुडऩा नदी पर नया पुल निर्माण होना है। जिस पर कार्य शुरु हुए करीब एक साल हो गए। जर्जर पुराने पुल को ढहाने के बाद आवाजाही के लिए ठेकेदार द्वारा डायवर्सन बनाया गया था। लेकिन इसमें घटिया निर्माण के आरोप लग रहे हैं। जीएसवी, मुरुम व पाइप निर्धारित मात्रा में नहीं लगाए जाने के कारण बरसात में बहने लगा। आलम यह है कि वाहनों को डर-डर के निकलना पड़ता है। नदी के दूसरी ओर कल्याणपुर के अलावा केंद्रीय विद्यालय व दो दर्जन गांव हैं। डासवर्सन खराब हो जाने के कारण 5 किलोमीटर दूर महर्षि स्कूल के पास से अंण्डर ब्रिज से होकर गुजरना पड़ता है। लेकिन वहां की रोड भी खराब हो चुकी है।
मरम्मत के देंगे निर्देश : जीएम
पीएमजीएसवाय के प्रबंधक जीके गुप्ता का इस संबंध में कहना है कि आने-जाने के लिए डायवर्सन दिया गया था, यदि वह खराब हो रहा है तो ठेकेदार को मरम्मत के निर्देश दिए जाएंगे।
इधर पानी में बह गए 2.10 लाख
जनपद सोहागपुर अंतर्गत भानपुर केरहा के पास जर्जर हो चुके पुल का कार्य शुरु नहीं हो पाया है। करीब एक करोड़ की लागत से नया निर्माण कराना है। इसके पूर्व 2.10 लाख खर्च कर पीडब्ल्यूडी द्वारा डासवर्सन का निर्माण बीते अक्टूबर-नवंबर माह में कराया गया था। लेकिन इस बरसात के शुरुआती दिनों में ही वह बह गया। इस पर भी आरोप लगाए गए कि निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा गया। अब दूसरी बार मरम्मत के नाम फिर रकम खर्च की जाएगी। जर्जर होने के कारण पहले ही मार्ग को बंद कराया जा चुका है। यह मार्ग अनपपुर के पुष्पराजगढ़ सहित डिण्डौरी, अमरकंटक, पतखई आदि दर्जनों इलाकों को जोड़ता था। लेकिन अब डायवर्सन के भी बह जाने के कारण आवाजाही पूरी तरह बाधित हो चुकी है। वहीं नए पुल का टेंडर हो जाने के बाद भी कार्य शुरु नहीं हो पाया है। 
टेंडर हो चुका है, कार्य जल्द शुरु होगा
लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री डीके खरे का कहना है कि बहते नाले के पानी से मरम्मत में दिक्कत हो रही है। पुराना पुल से आवाजाही पहले से बंद है। टेंडर हो चुका है कार्य जल्द शुरु कराया जाएगा।
 

कमेंट करें
qjZC2