जच्चा-बच्चा की मौत हुई तो तुरंत निलंबित होंगे सरकारी डाक्टर स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया परिपत्र 

Doctor will be immediately suspended if the mother and infant dies
जच्चा-बच्चा की मौत हुई तो तुरंत निलंबित होंगे सरकारी डाक्टर स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया परिपत्र 
जच्चा-बच्चा की मौत हुई तो तुरंत निलंबित होंगे सरकारी डाक्टर स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया परिपत्र 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश के सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों और अस्पतालों में तैनात चिकित्सा अधिकारियों के गैर हाजिर रहने के कारण इलाज के अभाव में मरीजों और प्रसूति के दौरान माता व बच्चों की मौत हुई तो अब संबंधित चिकित्सा अधिकारी को तत्काल निलंबत कर दिया जाएगा। साथ ही सरकार संबंधित चिकित्सा अधिकारी का पंजीयन रद्द करने के लिए महाराष्ट्र चिकित्सा परिषद (एमएमसी) के पास सिफारिश भेजेगी।

शनिवार को राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में परिपत्रक (सर्कुलर) जारी किया। इसके मुताबिक चिकित्सा अधिकारियों को अस्पतालों में बिना अनुमति के गैर हाजिर रहना महंगा पड़ सकता है। सरकार ने कहा है कि बिना पूर्व अनुमति अथवा ठोस कारण के ड्यूटी से नदारद रहने वाले चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ नियमों के अनुसार अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा उनकी वेतन वृद्धि रोक दी जाएगी।

बीते 16 जुलाई को नागपुर के विधानमंडल के मानसून सत्र के दौरान विधान परिषद में औरंगाबाद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में दवाइयों की कमी के मुद्दे पर चर्चा हुई थी। इस दौरान हुई चर्चा के जवाब में सरकार की तरफ से घोषित किया गया था कि स्वास्थ्य केंद्रों पर ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा अधिकारी के गैर हाजिर रहने के कारण इलाज करा रहे मरीज व प्रसूति के दौरान माता की मृत्यु की बात सामने आने पर संबंधित चिकित्सा अधिकारी को तत्काल निलंबित कर दिया जाएगा।

 

 

Created On :   1 Sep 2018 1:30 PM GMT

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story