दैनिक भास्कर हिंदी: सरकार पर सांठगांठ के आरोप, AIMIM विधायक ने कहा- नागपुर सत्र के दौरान चार गुना होते हैं हवाई टिकट

July 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  AIMIM विधायक इम्तियाज जलील ने आरोप लगाया कि मॉनसून सत्र के दौरान एयरलाइंस कंपनियों ने किराया बढ़ा दिया। जिससे साफ जाहिर हो रहा है कि कंपनियां हवाई टिकटों में ब्लैक कर रही है। उन्होंने कहा कि जब जब नागपुर में सैशन होता है, तब तब गो एयर इंडिगो जेट एयरवेज टिकट 5000 से 25000 रुपए कर देती है।

सेशन के दौरान नागपुर से मुंबई विधायक मंत्री मुख्यमंत्री और अफसरों का आवागमन होता रहता है। इस दौरान महंगी टिकटों का बोझ सरकार पर ही पढ़ता है। लेकिन सोचने वाली बाद है कि सामान्य दिनों में गो एयर इंडिगो और जेट एयरवेज की टिकटें नागपुर से मुंबई तक 5000 की होती हैं। सैशन के दौरान किराया बढ़कर 25000 रुपए तक हो जाता है। इम्तियाज जलील ने इसे खुलेआम लूट करार दिया है।

इस मुद्दे पर सरकार मौन है। इम्तियाज जलील ने कहा कि मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री विधायकों के अलावा आला अधिकारियों को टिकट का किराया सरकार देती है। जो सीधा जनता की जेब से आ रहा है। उन्होंने कहा कि जनता के पैसों की लूट रुकनी चाहिए। सरकार इस पर कुछ भी नहीं करती है। जबकि किसी प्रकार की टिकट को ब्लैक करना गैरकानूनी है। एयरलाइंस वाले खुलेआम सत्र देखकर टिकटें ब्लैक कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि नागपुर-मुंबई के बीच किराया कैसे बढ़ जाता है, वो भी चार गुना।

इम्तियाज जलील ने कहा कि सरकार इस पर क्यों चुप है। उन्होंने कहा कि यह बड़ा रैकेट हो सकता है। सवाल उठाते हुए कहा कि हो सकता है, सरकार भी एयरलाइंस कंपनियों के साथ हो। एक विधायक को एयरलाइंस की 40 डिग्री मिलती है, टिकट जितने की हो उसका पैसा सरकार से मिलता है, लेकिन यह लूट रुकनी चाहिए। सरकार की चुप्पी ब्लैक टिकट को बढ़ावा दे रही है। इम्तियाज ने इसपर तुरंत रोक लगाने की मांग कर एयरलाइंस पर सख्त कार्रवाई करने को कहा है। 

इम्तियाज ने यह भी कहा कि शुक्रवार को इस सत्र का आखरी दिन है। आशंका जताई कि उस दिन टिकट 25000 से भी ज्यादा हो सकती है। सरकार ने तुरंत एक्शन लेकर करोड़ों की हेराफेरी के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए।