दैनिक भास्कर हिंदी: डकैती और हत्या के आठ आरोपी पुलिस चौकी से फरार, संतरी पर हमला कर बंदूक ले भागे

August 7th, 2019

डिजिटल डेस्क,छिंदवाड़ा। उमरानाला के ग्राम उमरिया में डकैती और हत्या के मामले में गिरफ्तार अंतर्राज्यीय गिरोह के आठ डकैत मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात पुलिस को चकमा देकर उमरानाला चौकी के बंदीगृह से भाग निकले। ड्यूटी पर तैनात दो आरक्षकों के साथ मारपीट कर सभी आरोपी भागने में कामयाब हो गए।  फरार आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर डीआईजी, पुलिस अधीक्षक समेत पूरा बल पहुंचा। मारपीट में घायल एक आरक्षक को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

संतरी पर किया हमला  

पुलिस ने बताया कि रात लगभग एक से दो बजे के बीच एक आरोपी ने शौच के लिए संतरी रमन सिंह से पानी मांगा। रमन सिंह ने बंदीगृह खोलकर जैसे ही पानी दिया, पहले से घात लगाए बैठे अन्य आरोपियों ने संतरी को बंदीगृह में खींच लिया और उस पर हमला कर दिया। संतरी की आवाज सुनकर चौकी सुरक्षा में तैनात रामप्रसाद इवनाती जैसे ही बंदीगृह की ओर आया, उस पर भी आरोपी हमला कर चौकी से भाग निकले। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस अधीक्षक मनोज राय, एएसपी शशांक गर्ग समेत अन्य अधिकारी कर्मचारी समेत बल उमरानाला पहुंच गए थे। 

ड्यूटी पर सो रहे थे दो आरक्षक

आरोपियों की सुरक्षा के लिए उमरानाला चौकी के स्टाफ के अलावा 11 आरक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी। इन आरक्षकों की तीन-तीन घंटे की ड्यूटी लगाई गई थी। रात में जिन आरक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी। उनमें से आरक्षक विजय जाट व अजय सोलंकी रेस्ट रूम में जाकर सो रहे थे। आरोपी जब चौकी से फरार हो गए तब इनकी नींद खुली। 

9 अगस्त तक ली थी रिमांड

डकैती, हत्या, चोरी, पुलिस पर फायरिंग और एटीएम काटने के आरोप में गिरफ्तार आठ आरोपियों को पुलिस ने न्यायालय से 9 अगस्त तक रिमांड पर लिया था। उमरानाला चौकी में रखकर उनसे पूछताछ की जा रही थी। यह सभी आरोपी पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गए। 

घोघरी से बाइक चोरी कर भागे

फरार आरोपियों ने तंसरा से घोघरी मार्ग पर रहने वाले शंकर डोंगरे के घर के सामने खड़ी बाइक चोरी कर ले गए। आरोपियों ने बाइक का लॉक तोड़ा और उससे लगभग तीन आरोपी देवगढ़ की ओर भागे। एक टीम देवगढ़ से लगे जंगल में आरोपियों की तलाश कर रही है। 

आरक्षक से छीनी बदूंक और  मोबाइल
आरोपियों ने भागते वक्त संतरी रमन सिंह की बंदूक, मोबाइल और रामप्रसाद इवनाती का मोबाइल छीन लिया था। हालांकि भागते वक्त आरोपियों ने चौकी से निकलते ही बंदूक और मोबाइल फैंक दिए। बताया जा रहा है कि इस बीच किसी आरोपी ने आरक्षक के मोबाइल से कॉल करने का प्रयास भी किया था। 

डीआईजी ने दर्ज किए बयान
पुलिस गिरफ्त से आरोपियों के फरार होने की सूचना मिलने पर डीआईजी सुशांत सक्सेना उमरानाला चौकी पहुंचे। घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने घायल आरक्षक और ड्यूटी पर तैनात अन्य आरक्षकों से घटना के संबंध में जानकारी ली और बयान दर्ज किए। 

पुलिस की बड़ी लापरवाही
पुलिस की बड़ी लापरवाही यह थी कि डकैती, हत्या और गिरफ्तारी के वक्त पुलिस पर फायरिंग करने वाले कुख्यात आरोपियों को एक साथ रखा गया। जिससे आरोपियों को भागने की योजना बनाने का पूरा मौका मिल गया। आरोपियों को पता था कि रात के वक्त चौकी में स्टाफ नहीं होता। जिसका फायदा उठाते हुए आरोपी आरक्षकों पर हमलाकर फरार हो गए।

महाराष्ट्र के कलमना में पकड़ाए तीन आरोपी
उमरानाला चौकी से फरार आरोपियों मेें से तीन को महाराष्ट्र पुलिस ने कलमना के पास पकड़ा है। आरोपियों की धरपकड़ की सूचना के बाद एसपी, एएसपी समेत अन्य स्टाफ महाराष्ट्र के लिए रवाना हुआ है। बताया जा रहा है कि कलमना में राजकुमार उर्फ बड्डा, मोनू ठाकुर और रवि दुबे पकड़ाए। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है।

पुलिस की गिरफ्त से यह आरोपी फरार
उमरानाला चौकी से महाराष्ट्र के बेलाभंडारा निवासी रवि दुबे, सिवनी के मैनापिपरिया निवासी रमेश ठाकुर, डोंगरकला निवासी देवराव किरार, महाराष्ट्र के भंडारा निवासी चेतन गायधने और सारंगबिहरी निवासी गोलू उर्फ श्रवण खापरे, नैनपुर के बड्डा उर्फ राजकुमार केराम, नैनपुर के मोनू ठाकुर और एक नाबालिग आरोपी भाग निकले है। 

क्या कहते हैं अधिकारी

उमरानाला चौकी में पूछताछ के लिए रखे गए आरोपी ड्यूटी पर तैनात आरक्षकों पर हमलाकर भाग निकले है। आरोपियों की तलाश में टीमें लगातार सर्चिंग कर रही है।  -मनोज राय, एसपी
 

खबरें और भी हैं...