दैनिक भास्कर हिंदी: छिंदवाड़ा की आठ युवतियां नागपुर बेचने ले जा रहे थे तस्कर, आरोपी गिरफ्तार

December 30th, 2020


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। छिंदवाड़ा की आठ युवतियों को बालाजीपुरम घूमाने के बहाने नागपुर दुव्र्यापार करवाने के लिए महिला सहित तीन आरोपियों द्वारा बोलेरो से ले जाया जा रहा था। मुखबिर की सूचना पर मुलताई पुलिस ने दुनावा बेरियर पर घेराबंदी कर आरोपियों को पकड़ा और युवतियों को मुक्त कराया। युवतियों के अनुसार उन्हें पांच हजार रुपए का लालच देकर दुव्र्यापार में ढकेला जा रहा था।
एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि छिंदवाड़ा जिले के अलग-अलग क्षेत्र की आठ युवतियों को बोलेरो वाहन से बैतूल की ओर ले जाया जा रहा था। मुखबिर से मिली सूचना पर पुलिस टीम ने दुनावा बेरियर पर चैकिंग अभियान चलाकर वाहन पकड़ा। उन्होंने बताया कि पातालेश्वर निवासी निवासी 30 वर्षीय प्रियंका उर्फ रश्मि वर्मा पिता राजकुमार वर्मा, परासिया के कोसमी निवासी 26 वर्षीय नीलेश उर्फ लल्ला पिता लालचंद डेहरिया तथा मोहखेड़ के कुकड़ा किरार निवासी 28 वर्षीय धारा सिंह पिता टीकाराम चौहान द्वारा छिंदवाड़ा की आठ युवतियों को बालाजीपुरम घूमने के बहाने नागपुर दुव्र्यापार के लिए बोलेरो से ले जा रहा था। आरोपियों से मुक्त कराई गई युवतियों की शिकायत पर पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 366, 506, 342 तथा 34, अनैतिक देह व्यापार अधिनियम की धारा 5 के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। कार्रवाई करने वाली टीम में मुलताई एसडीओपी नम्रता सेधिंया, टीआई सुरेश सोलंकी सहित पुलिस बल शामिल था।  
पांच हजार का लालच देकर ले जा रहे थे-
एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि आरोपियों से मुक्त कराई गई युवतियों ने बताया कि बालाजीपुरम घुमाने का बोलकर हमें 5-5 हजार रुपए देने का कह रहे थे। हमने मना किया तो हम लोगों को जान से मारने की धमकी दी। युवतियों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्ज किया है।
दस साल से लिप्त है दुव्र्यापार में-
पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि रश्मि वर्मा पिछले दस सालों से दुव्र्यापार से जुड़ी है। जिले की अलग-अलग क्षेत्रों से युवतियों को इक_ा कर वे छिंदवाड़ा और नागपुर में दुव्र्यापार चला रही थी। पुलिस रश्मि के मोबाइल में मिले नम्बरों के आधार पर उससे जुड़े लोगों की जानकारी जुटा रही है।
जांच के लिए छिंदवाड़ा आएगी बैतूल पुलिस-
इस मामले में एसपी सिमाला प्रसाद का कहना है कि आरोपियों से पूछताछ में कई तथ्य सामने आए है। दुव्र्यापार चलाने वाले रैकेट की धरपकड़ के लिए एक टीम छिंदवाड़ा भेजी जाएगी। छिंदवाड़ा पुलिस की मदद से रैकेट में जुड़े आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।