दैनिक भास्कर हिंदी: शराबबंदी चुनाव तो हुए लेकिन नहीं मिले सरकारी आदेश, बिक रही शराब

September 5th, 2018

डिजिटल डेस्क, गोंदिया। गोरेगांव तहसील के तुमखेड़ा खुर्द में 25 अगस्त को शराब बंदी के लिए मतदान किया गया था। जिसमें शराब बंदी के पक्ष में महिलाओं ने वोटिंग कर आड़ी बोतल को जीत दिलाई। जिससे शराब दुकान बंद होना आवश्यक था। जबकि इस चुनाव को 10 दिन बीत जाने के बावजूद भी शराब दुकान को बंद करने के आदेश अब तक प्राप्त नहीं हुए हैं। जिससे देशी शराब दुकान अभी भी शुरू है। ऐसे में तुमखेड़ा वासियों में भ्रम की स्थिति निर्माण हो गई है। 

बता दें कि तुमखेड़ा खुर्द में शासन ने देशी शराब दुकान व बार को शुरू करने की अनुमति दी थी। जिस वजह से दोनों दुकान इस ग्राम में चल रही है। ऐसे में ग्राम की महिलाओं ने इस दुकान को बंद करने की मांग जिलाधिकारी से की थी। जिस पर जिला प्रशासन ने शराब दुकान बंद करना या नहीं, इसके लिए 25  अगस्त को मतदान की प्रक्रिया पूर्ण की। जिसमें 1 हजार 52 महिला मतदाताओं में से 740 महिलाओं ने अपना मतदान किया। इनमें से 50 प्रतिशत से अधिक अर्थात 637  महिला मतदाताओं ने आड़ी बोतल को अपना वोट देकर शराब दुकान को बंद करने पर सहमति दर्शायी।

ऐसा लग रहा था कि दूसरे दिन से ही याने 26  अगस्त से ही शराब की दुकान बंद हो जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। अभी भी देशी शराब की दुकान शुरू है। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन की ओर से इस दुकान को बंद करने का आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। शराब दुकान बंद नहीं होने से महिलाओं में फिर से जिला प्रशासन के खिलाफ नाराजी देखी जा रही है। 

आदेश प्राप्त नहीं हुए
आदेश प्राप्त होते ही दुकान होगी बंद इस संदर्भ में दस्तावेज जिलाधिकारी कार्यालय को विभाग की ओर से दिए गए हैं। आदेश प्राप्त होते ही उपरोक्त शराब दुकान को बंद किया जाएगा। इस संदर्भ में जल्द ही कार्यालयीन आदेश प्राप्त होंगे। 
- आर. सेंगर, राज्य उत्पादनक शुल्क निरीक्षक, गोंदिया