दैनिक भास्कर हिंदी: फडणवीस बोले - प्रत्येक चुनाव होता है परीक्षा समान, उम्मीद हैं हम पास होंगे

December 1st, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विधानपरिषद की स्नातक निर्वाचन सीट के लिए मतदान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि इस चुनाव में कई स्नातक मतदान के अधिकार से दूर हैं। उन्होंने कहा है कि जल्दबाजी में चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के कारण कई स्नातकों के नाम मतदाता सूची में शामिल नहीं हो पाए हैं। मतदान के लिए आवेदन करना स्नातक की जवाबदारी है, उनका नाम मतदाता सूची में शामिल करना राज्य चुनाव आयोग की जवाबदारी है। लिहाजा आयोग इन चुनाव में व्यवस्था सुधारें। भाजपा की जीत का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक चुनाव परीक्षा होता है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि इस परीक्षा में पास होेंगे। मतदाताओं को हुई परेशानी का जिक्र करते हुए फडणवीस ने कहा-मेरे घर से मेरा ही नाम मतदाता सूची में है। परिवार के 3 सदस्यों के नाम सूची में शामिल नहीं हो पाए हैं। एेसे ही कई घर हैं जहां स्नातक सदस्यों की संख्या 4 है उनमें से दो सदस्यों के नाम ही मतदाता सूची में शामिल हुए।

शिवसेना ने हिंदुत्व छोड़ा

एक सवाल पर फडणवीस ने कहा कि सत्ता के लिए शिवसेना ने हिंदुत्व छोड़ दिया है। वह सेक्युलर नहीं शुडो सेक्युलर अर्थात छद्म धर्मनिरपेक्ष है। भाजपा ने कभी भी मुस्लिम समाज को वोट बैंक नहीं माना। शिवसेना के लिए यह समाज केवल वोट बैंक है। बाल ठाकरे ने जो शिवसेना तैयार की थी वह अब नहीं रही है। 

खबरें और भी हैं...