comScore

किसान कर्जमाफी, सस्ती बिजली चार धाम यात्रा का किया वादा 

किसान कर्जमाफी, सस्ती बिजली चार धाम यात्रा का किया वादा 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। चुनावी बेला में मतदाताओं को रिझाने के लिए शिवसेना ने वादों का पिटारा खोल दिया है। पार्टी ने सत्ता में आने पर अल्पभूधारक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के किसानों के बैंक खाते में प्रतिवर्ष 10 हजार रुपए जमा कराने का वादा किया है। किसानों की संपूर्ण कर्जमाफी की घोषणा भी की गई है। शनिवार को मुंबई स्थित मातोश्री में शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी का घोषणापत्र जारी किया। इसे वचननामा नाम दिया गया है। घोषणापत्र में 300 यूनिट तक इस्तेमाल की जाने वाली घरेलू बिजली की दर में 30 प्रतिशत कटौती करने का वादा किया गया है। 1 रुपए में स्वास्थ्य जांच के लिए क्लिनिक खोलने समेत 10 रुपए में भरपेट भोजन देने का भी ऐलान किया है। वहीं, प्रदेशवासियों को राम जन्मभूमि, चार धाम, वैष्णोदेवी, काशी और मानसरोवर की यात्रा कराने महाराष्ट्र राज्य पर्यटन विकास महामंडल के माध्यम से विशेष केंद्र खोले जाएंगे। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की लड़कियों के लिए कॉलेज तक मुफ्त शिक्षा के साथ शिवसेना ने भूमिपुत्रों को 80 प्रतिशत नौकरी देने वाले कानून को सख्ती से लागू करने और इसमें असंगठित व ठेका कामगारों को शामिल करने की बात भी कही है। उद्धव ने कहा है कि सरकारी खजाने की हालत को ध्यान में रखते हुए यह घोषणापत्र तैयार किया गया है। 

धुलिया में बोले उद्धव-पीछे से वार करना भगवा संस्कृति नहीं

उधर धुलिया में पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने नाम लिए बिना भाजपा कार्यकर्ताओं पर निशाना साधा है। शनिवार को धुलिया शहर सीट पर खड़े युति उम्मीदवार और शिवसेना नेता हिलाल माली की प्रचार सभा के दौरान उन्होंने कहा, ‘पीछे से वार करना हमारी संस्कृति नहीं, लेकिन यहां भाजपा कार्यकर्ता खुलेआम निर्दलीय उम्मीदवार का प्रचार कर रहे हैं, यह भगवा संस्कृति नहीं है।’ भाजपा द्वारा ऐसे कार्यकर्ताओं पर कोई कार्रवाई नहीं किए जाने को उन्होंने चिंताजनक बताया।
ठाकरे ने अपरोक्ष रूप से पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल को शिवसेना उम्मीदवार की मदद करने की नसीहत देते हुए कहा कि धुलिया ग्रामीण सीट बंटवारे में भाजपा को दी गई है, जहां हम भाजपा की हरसंभव मदद कर रहे हैं लेकिन भाजपा कार्यकर्ता निर्दलीय उम्मीदवार के प्रचार में जुटे हैं। भाजपा द्वारा अभी तक बागी कार्यकर्ताओं पर कोई कार्रवाई नहीं किए जाने को भी उन्होंने चिंताजनक बताया। 

कमेंट करें
AYCpu