comScore

खराब मौसम के कारण विमान डायवर्ट की नागपुर में लैंडिंग, दूसरे मामले में कस्टम ने 5 करोड़ का राजस्व वसूला

खराब मौसम के कारण विमान डायवर्ट की नागपुर में लैंडिंग, दूसरे मामले में कस्टम ने 5 करोड़ का राजस्व वसूला

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गुरुवार को इंडिगो के एक विमान को नागपुर डायवर्ट कर दिया गया। जो इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय विमानतल दिल्ली से स्वामी विवेकानन्द विमानतल रायपुर जा रहा था। रायपुर में मौसम खराब होने के कारण विमान को नागपुर डायवर्ट किया गया। करीब एक घंटे बाद विमान ने वापस रायपुर के लिए उड़ान भरी। जानकारी के अनुसार इंडिगो का विमान क्रमांक 2757 ने दिल्ली से रायपुर के लिए सुबह 7 बजे उड़ान भरी थी। विमान रायपुर के आसमान में पहुंचा तो वहां का मौसम खराब होने के कारण एयर ट्रॉफिक कंट्रोल (एटीसी) ने विमान को उतरने की अनुमति नहीं दी। आसमान में काफी समय तक चक्कर लगाने के बाद जब रायपुर में विमान को उतारने की स्थित नहीं दिखाई दी, तो विमान को डायवर्ट कर दिया गया। पायलेट ने नागपुर एटीसी से संपर्क कर विमान को विमानतल पर उतार लिया। विमान रायपुर करीब 8.35 बजे पहुंचने वाला था लेकिन डायवर्ट होने के कारण विमान करीब 9 बजे नागपुर पहुंचा। करीब एक घंटा इंतजार करने के बाद मौसम साफ होने की हरी झंडी मिलते ही विमान ने फिर सुबह करीब 10 बजे संतरानगरी के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल से उड़ान भरी।

विमानतल पर कस्टम ने सामान पकड़ा, 5 करोड़ रुपए का राजस्व वसूला

इसके अलावा अवैध तरीके से सामान ले जाने के मामले में कस्टम्स एयर यूनिट ने 5 करोड़ रुपए का राजस्व वसूला। यह कार्रवाई बिना कस्टम ड्यूटी चुकाकर सामान ले जाने के मामलों में की गई। यह खुलासा सूचना के अधिकार (आरटीआई) में मांगी गई जानकारी में सामने आया है। लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह है कि कस्टम विभाग के पास वरिष्ठ अधिकारियों के दौरे का कोई रिकार्ड नहीं है। नागपुर से सिर्फ दो विमान अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरते है। एयर अरेबिया का विमान यूएई शारजहा से आकर वापस जाता है। उसी प्रकार कतर एयरवेज का विमान दोहा से आकर वापसी की उड़ान भरता है। यह दोनों ही विमान देर रात नागपुर पहुंचते है। दोहा और शारजहा से नागपुर पहुंचने वाले विमान में कई यात्री ऐसे होते है जो सोना सहित अन्य सामान लेकर आते है लेकिन उस पर कस्टम ड्यूटी नहीं चुकाते है। वहीं दूसरी ओर कई लोग चोरी-चोरी सामान लाते है। कभी कोई शरीर में बांधकर लाता है तो कभी बैग के अंदर छुपाकर। इतना ही नहीं पिछले दिनों एक व्यक्ति लाखों रुपए का सोना गुप्तांग में छुपाकर ले जा रहा था जिस पर कस्टम विभाग की एयर कस्टम्स यूनिट कार्रवाई की थी। पिछले 5 साल में कस्टम विभाग के एयर कस्टम्स यूनिट ने 4 करोड़ 82 लाख 36 हजार 763 रुपए के राजस्व की वसूली की। यह जानकारी सूचना के अधिकार के तहत आरटीआई एक्टिविस्ट अभय कोलारकर ने मांगी थी।

हमारे पास कोई रिकार्ड नहीं

तेलंगखेड़ी स्थित वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) कार्यालय में स्थित सहायक आयुक्त कस्टम ने सूचना के अधिकार में यह जानकारी दी। जिसमें स्पष्ट किया गया है कि विमानतल पर वरिष्ठ अधिकारियों के आने का कोई रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है। विशेष बात यह है कि दोनों विमान रात में हाेने के कारण सभी वरिष्ठ अधिकार रात में ही विमानतल स्थित कार्यालय पर पहुंचते है।

कमेंट करें
WLduB