दैनिक भास्कर हिंदी: गो एअर लाइन्स के दो अधिकारियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज,सहकर्मी को आत्महत्या के लिए विवश करने का मामला

August 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गो एअर लाइंन्स के दो अधिकारियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। अपने सहकर्मी की मौत के लिए जिम्मेदार होने का आरोप है। घटित प्रकरण में गुरुवार की देर रात अजनी थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।  जानकारी के अनुसार चंद्रमणी नगर निवासी मंथन महेंद्र चव्हान 19 वर्ष गो एअर लाइंन्स में बतौर एअर ट्रैफिक कंट्रोल के रूप में कार्यरत था। 30 मई 2019 से कुछ दिनों पूर्व बीमार था। इस कारण वह अवकाश पर था। इसके बाद भी गो एअर लाइंन्स के स्थानीय प्रबंधक अक्षय पाटील और वरिष्ठ रैम्प प्रबंधक निलय जनबंधु मंथन के मोबाइल पर फोन और संदेशे भेजकर परेशान करते थे।

फोन और एसएमएस से कर रहे थे प्रताड़ित

बीमार होने के बाद भी मंथन को डयूटी पर बुलाया जा रहा था,जबकि मंथन का बहुत ज्यादा स्थास्थ्य खराब था । घर में रहकर वह स्वास्थ्य लाभ लेना चाहता था। इस बीच प्रतिदिन की प्रताड़नाओं से त्रस्त होकर उसने 30 मई की दोपहर में खिड़की के ग्रील को रस्सी बांधकर फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौत हो गई। मंथन की मां पुलिस विभाग में कार्यरत है। घटना को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का भी दौर चला है। इस बीच मंथन के पिता महेंद्र चव्हान (55 ) की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया है,जबकि इसके पहले मामले को आकस्मिक मृत्यु के तौर पर दर्ज किया गया था।

जांच में मिले धमकी भरे संदेश

जांच के दौरान पुलिस को मंथन के मोबाइल में धमकी भरे संदेश मिले हैं। इसके आधार पर अक्षय और निलय के खिलाफ मंथन को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया गया है,लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। दोनों आरोपियों को बहुत जल्द गिरफ्तार करने का दावा पुलिस सूत्रों ने व्यक्त किया है। घटना से गो एअर लाइंन्स कंपनी प्रबंधन में भी हड़कंप मचा हुआ है। जांच जारी है।