दैनिक भास्कर हिंदी: जिसका कार्ड उसी को अनाज, "अंगूठा लगाआे, राशन लो' की प्रक्रिया शुरू 

August 21st, 2017

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राशन लेने के लिए सरकार भले ही अगले महीने से अंगूठे का निशान लेना अनिवार्य करने पर विचार कर रही हो, लेकिन राशन दुकानदारों ने POS मशीन पर अंगूठा लगाकर अनाज देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। किसी और के कार्ड पर दूसरे को राशन देने की बात भी इसी महीने से खत्म हो गई है। जिनका राशन कार्ड है, उन्हें ही राशन दिया जा रहा है। अंगूठा लगाने की प्रक्रिया पर इसलिए जोर दिया जा रहा है, ताकि अगले महीने से यह अनिवार्य होने पर कोई परेशानी खड़ी न हो सके। 

सरकार "अंगूठा लगाआे, राशन लो' की नीति लाई है। इसके लिए शहर के सभी 650 राशन दुकानों में प्वाइंट आॅफ सेल (POS) मशीनें लगा दी गई हैं। इस मशीन को चलाने का प्रशिक्षण भी सभी दुकानदारों को दे दिया गया है। राशन दुकानदारों के संगठन ने पहले इस प्रक्रिया का विरोध किया। सरकार की सख्ती पर दुकानदारों का संगठन सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर तक इसे अनिवार्य नहीं करने को कहा। शहर में 5 लाख 67 हजार राशन कार्ड हैं, जिनमें से करीब सवा पांच लाख राशन कार्ड आधार से लिंक हुए हैं। शेष कार्ड सितंबर तक लिंक करने की खाद्यान्न विभाग की योजना है। सरकार की सख्ती से बैकफुट पर आए राशन दुकानदारों ने POS मशीन का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। दूसरे का राशन कार्ड लाने वालों को अनाज देना बंद कर दिया है। हालांकि सरकार ने ऐसा आदेश नहीं दिया, लेकिन सितंबर के पहले सारी एक्सरसाइज पूरी हो, इसलिए यह कवायद की जा रही है। 

इस महीने हो सकती है दुकानदारों की चांदी 

राशन दुकानदारों ने अपनी तरफ से अंगूठे की सख्ती करने से उन राशन कार्ड धारकों को अनाज नहीं मिलेगा, जो खुद दुकान में नहीं पहुंचेंगे। ऐसे में उनके कोटे का अनाज दुकानदार के पास ही रहेगा, सरकार यह कोटा वापस नहीं लेगी। ऐसे में गरीबों का यह अनाज दुकानदारों के पास जाएगा। दुकानदारों द्वारा अनाज की कालाबाजारी करना नई बात नहीं है। सरकार की तरफ से POS मशीन पर अंगूठा अनिवार्य करने के बाद इसमें काफी हद तक पारदर्शिता आएगी। 

अभी से अमल करना जरूरी हुआ

खाद्यान्न विभाग के अधिकारी ने बताया कि अंगूठा लगाकर सरकारी अनाज देने की सरकार की नीति शीघ्र ही अनिवार्य होगी। इसमें बहुत कम समय बचा है, इसलिए अभी से अंगूठा लगाकर अनाज देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। संबंधित कार्ड धारक के संबंध में कोई तकनीकी समस्या रही तो उसमें अभी सुधार किया जा सकता है। 95%राशन कार्ड आधार से लिंक हुए हैं। परिवार के सभी सदस्यों के आधार कार्ड लिंक किए जा रहे हैं, ताकि परिवार का कोई भी सदस्य अंगूठा लगाकर अनाज ले सकता है। अंगूठे के साथ ही अन्य उंगलियों  से भी काम हो, इस दिशा में काम हो रहा है और इससे काम में पारदर्शिता आएगी। अंगूठा अनिवार्य होने पर अनाज वितरण का सारा डाटा सरकार के पास उपलब्ध रहेगा आैर कालाबाजारी पर अंकुश लगेगा।