comScore

फांसी : मामूली विवाद में दो लोगों ने दी जान, दहेज प्रताड़ना की शिकार विवाहिता ने भी की आत्महत्या

फांसी : मामूली विवाद में दो लोगों ने दी जान, दहेज प्रताड़ना की शिकार विवाहिता ने भी की आत्महत्या

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अलग अलग स्थानों पर महिला सहित दो ने फांसी लगा ली। कलमना और धंतोली थाने में आकस्मिक मृत्यु के प्रकरण दर्ज किए गए हैं।  वैष्णवदेवी नगर निवासी भुनेश्वरी सुनील शाहू (27) मजदूरी करती थी। मंगलवार तड़के चार बजे छत में लगे लोहे के एंगल से दुपट्टा बांधकर उसने फांसी लगा ली। संबंधित थाने के जांचकर्ता अशोक रामटेके ने बताया है कि घटना की पूर्व रात में पति सुनील से उसका विवाद हुआ था। हालांकि सुबह उसने पति के लिए टिफिन भी बनाया, लेकिन उसके काम पर जाने के बाद भुनेश्वरी ने आत्मघाती कदम उठाया। 

युवक ने लगाई फांसी 

दूसरा वाकया धंतोली थाना क्षेत्र के कुंभारटोली में हुआ है। आकाश किशोर कुंभरे (24) ने भी सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात पाइप से चुन्नी बांधकर फांसी लगा ली। वह मजदूरी करता था और टीबी से पीड़ित था। डॉक्टरों ने उसे शराब पीने से मना किया था। बावजूद इसके आकाश ने शराब नहीं छोड़ी। इस बात को लेकर बहन से उसका विवाद हुआ। इसके बाद तैश में आकर आकाश ने आत्मघाती कदम उठा लिया है। दोनों घटनाओं को आकस्मिक मृत्यु के तौर पर दर्ज िकया गया है। 

विवाहिता ने लगाई फांसी

शहर में एक और विवाहिता दहेज की बलि चढ़ी। शारीरिक मानसिक प्रताड़नाओं से त्रस्त होकर उसने फांसी लगा ली। मंगलवार को गिट्टीखदान थाने में पति सहित परिवार के चार सदस्यों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। जलगांव निवासी दुर्गा दिगांबर जाधव (40) की पुत्री स्वाति की करीब एक वर्ष पहले नागपुर के वैष्णवमाता नगर निवासी रोशन रामेश्वर गायकवाड़ (27) से शादी हुई थी। वह वाहन चालक है। शादी के बाद रोशन और उसके परिवार के सदस्य, मंगला गायकवाड़ (45), रामेश्वर गायकवाड़ (51) और आकाश गायकवाड़ दहेज के रूप में नकदी और सोना मायके से लाने के लिए स्वाति को शारीरीक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। इससे त्रस्त होकर 30 अप्रैल की रात लोहे के एंगल पर चुन्नी बांधकर स्वाति ने फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने पहले आकस्मिक मृत्यु के तौर पर मामला दर्ज किया गया था, लेकिन मौत को लेकर स्वाति की मां दुर्गा ने रोशन और उसके परिजन के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे, उनके खिलाफ शिकायत भी की। जांच के दौरान उक्त लोगों को स्वाति की माैत के लिए जिम्मेदार ठहराया गया, जिसके बाद पति और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

विवि एलआईटी कॉलेज के लाइब्रेरी प्रमुख को कार ने उड़ाया

उधर एलआईटी कॉलेज नागपुर विवि के लाइब्रेरी प्रमुख दीपक शेंडे को मंगलवार की दोपहर करीब 2.45 बजे के दौरान कार ने टक्कर मार दी। हादसे में घटनास्थल पर ही शेंडे ने दम तोड़ दिया। अंबाझरी पुलिस ने आरोपी कार चालक गौतम इंगले (50) कांग्रेस नगर बुलढाणा निवासी को गिरफ्तार कर लिया है। आदिवासी सोसाइटी कमला नगर, वाड़ी निवासी दीपक गोविंदराव शेंडे (51) मंगलवार को अमरावती रोड पर ग्रंथालय से कार्य निपटाकर अपनी एक्टिवा क्रमांक एमएच- 31, ईजेड-7896 से घर की ओर निकले थे। इस बीच किसी परिचित के मिलने पर एलआईटी कॉलेज के गेट के सामने बातचीत करने लगे। तभी, रविनगर से अमरावती की ओर तेज रफ्तार से जा रही कार क्रमांक एमएच- 28, वी- 9007 के चालक गौतम इंगले ने शेंडे को टक्कर मार दी। परिचित शेंडे को रविनगर चौक में एक निजी अस्पताल में ले गए, जहां हालत चिंताजनक देखते हुए रामदासपेठ में एक अन्य निजी अस्पताल रवाना किया गया। प्राथमिक जांच के दौरान ही डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अंबाझरी पुलिस ने आरोपी कार चालक गौतम इंगले को गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया।
 

कमेंट करें
UIu1D