दैनिक भास्कर हिंदी: स्कूलों में बेतहाशा शुल्क वृद्धि पर 10 को सुनवाई

February 5th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर । स्कूलों में बेतहाशा शुल्क वृद्धि तथा अन्य समस्याओं पर शिक्षणाधिकारी कार्यालय में सुनवाई नहीं होने की शिकायत मिलने पर शिक्षण उपसंचालक ने 10 फरवरी को दोपहर 12 बजे अपने कक्ष में सुनवाई रखी है। पालकों से सबूत के साथ अपना पक्ष रखने का आह्वान शिक्षण उपसंचालक सतीश मेंढे ने किया है।

जागृत पालक परिषद की शिकायत है कि शुल्क भुगतान में विलंब होने पर विद्यार्थियों को टीसी देने की नोटिस दिए जा रहे हैं। अनेक स्कूलों के पास वर्ष 2013-2014 से आर्थिक लेखा-जोखा नहीं है। मुद्दत पूर्व शैक्षणिक शुल्क भुगतान नहीं करने पर प्रतिदिन 10 रुपए विलंब शुल्क वसूल किया जा रहा है। शिक्षण शुल्क का विवरण पत्र सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। शैक्षणिक योग्यता पूरी नहीं करने वाले शिक्षकों को नियुक्त किया गया है। एनसीईआरटी की पुस्तकों की जगह निजी प्रकाशन का पाठ्यक्रम को प्राथमिकता दी जाती है।

पालक-शिक्षक समिति को नजरअंदाज किए जाने से स्कूलों की मनमानी चल रही है। जिला शिक्षणाधिकारी से अनेक शिकायतें करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई। इन समस्याओं पर उपसंचालक ने सुनवाई रखी है। संबंधित स्कूलों से सुनवाई तक टीसी नहीं देने, विद्यार्थियों को स्कूल नहीं भेजने की धमकी तथा पालकों से शुल्क भुगतान की जबर्दस्ती नहीं करने की ताकीद दी गई है। पालाकें से अपनी शिकायतों के पुख्ता सबूत के साथ उपस्थित रहने की अपील की गई है।