दैनिक भास्कर हिंदी: भारी बारिश बनी मुसीबत, मुंबई में भूस्खलन और दीवार ढहने से मरने वालों का आंकड़ा बढ़ा- मोदी और उद्धव ने की मुआवजे की घोषणा

July 18th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शनिवार रात से हो रही बारिश ने मायानगरी को बेहाल कर लिया। भूस्खलन और नवी मुंबई में मकान की दीवार ढह गई, जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। मामले की जानकारी स्थानीय अधिकारियों को रविवार सुबह मिली, जिसके तहत वाशी क्षेत्र में देर रात क़रीब एक बजे दीवार ढह जागई. महानगर में दीवार गिरने के चलते हुए हादसे पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हादसे पर शोक जताया और मृतकों के परिजनों के 5-5 लाख रुपए सहायता और घायलों के मुफ्त इलाज का ऐलान किया।

वहीं एक उपनगर विखरोली में देर रात क़रीब ढाई बजे भूस्खलन के बाद झोपड़ियों के ढह जाने से दो लोगों की मौत हो गई, यह हादसा सूर्य नगर इलाक़े में हुआ। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उपनगर भांडुप में वन विभाग इलाके की दीवार ढहने से 16 वर्षीय लड़के की मौत हो गई।

लगातार चल रही बरसात के चलते महानगर का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। महानगर के कई कई निचले इलाके पानी में डूबे नजर आए। छुट्टी का दिन होने के चलते कम ही लोग बाहर निकले थे इसलिए सड़कों पर भीड़भाड़ कम थी। फिर भी जलजमाव के चलते बेस्ट की 118 बसों के मार्ग बदलने पड़े।

सायन, गांधी मार्केट, कुर्ला, हिंदमाता, अंधेरी, चेंबूर जैसे महानगर के 34 इलाकों में जलजमाव की समस्या सामने आई। पटरियों पर पानी भरने के चलते मध्यरेलवे और पश्चिम रेलवे की लोकल सेवाएं काफी देर तक ठप रहीं इसके अलावा बड़ी संख्या में लंबी दूरी की गाड़ियों को भी रद्द करना पड़ा या, उन्हें गंतव्य तक पहुंचने से पहले ही रोकना पड़ा।

मौसम विभाग के मुताबिक मुंबई और आसपास बरसात का सिलसिला अगले पांच दिनों तक जारी रह सकता है। लगातार बरसात के चलते मीठी नदी खतरे के निशान को पार कर गई। एनडीआरएफ और दमकल की टीमें रातभर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचातीं रहीं। इसके अलावा शहर में जमा हुआ 4424 लाख लीटर पानी पंपिंग स्टेशनों के जरिए समुद्र में छोड़ा गया। महानगर में रात 12 बजे से 3 बजे तक 250 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई। वहीं महानगर में लगातार हो रही बरसात के चलते उपजे हाताल के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार शाम आलाअधिकारियों के साथ बैठक कर हालात का जायजा लिया।

पीने के पानी की परेशानी

भारी बरसात के बाद भांडूप में पानी साफ करने का संयत्र ठप हो गया। इसके बाद मुंबई महानगर पालिका ने लोगों से अपील की कि पीने का पानी संभालकर इस्तेमाल करें क्योंकि इसकी सप्लाई प्रभावित हो सकती है। महानगर के ज्यादातर इलाकों में यहीं से पानी साफ करके से सप्लाई किया जाता है। बीएमसी ने कहा कि संयत्र को फिर शुरू करने के लिए युद्ध स्तर पर काम किया जा रहा है।

मौत पर दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारी बारिश के कारण हुए इन हादसों में लोगों की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से हादसे में मरने वाले परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 रुपये मुआवजा देने का ऐलान कर दिया। मोदी ने कहा, 'मुंबई के चैंबूर और विक्रोली में दीवार गिरने से लोगों की मौत से दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। प्रार्थना करता हूं कि जो लोग घायल हुए हैं वे अतिशीघ्र स्वस्थ हों।'

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी हादसे पर दुख जताते ट्वीट किया, 'चैंबूर और विक्रोली में भारी बारिश के चलते हुए हादसों में कई लोगों के मरने और घायल होने की खबर से गहरा दुख लगा। मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं, घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'
 

 

 

खबरें और भी हैं...