दैनिक भास्कर हिंदी: घाटपरासिया के जंगल में मिला नरकंकाल - लापता युवक के रिश्तेदारों ने की शिनाख्त, जताई हत्या की आशंका

November 28th, 2020

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। कुंडीपुरा थाना क्षेत्र के घाटपरासिया से लगे जंगल में गुरुवार को नरकंकाल मिला। घाटपरासिया से अगस्त माह से लापता युवक के परिजनों ने शव के पास मिले कपड़े के टुकड़ों से उसकी शिनाख्त की है। शव का कुछ हिस्सा जमीन में दबा होने पर परिजनों ने हत्या की आशंका जाहिर कर पुलिस से मामले की जांच की मांग की है। शुक्रवार को नरकंकाल का पीएम दो डॉक्टरों की टीम ने किया है। पुलिस का कहना है कि पीएम रिपोर्ट के आधार पर अगली कार्रवाई की जाएगी।
पुलिस ने बताया कि राजस्थान के प्रागपुरा जयपुर राजस्थान निवासी 38 वर्षीय राहुल पिता माधव मीणा पिछले कुछ वर्षों से छिंदवाड़ा में रहकर काम करता था। उसने घाटपरासिया की एक युवती से शादी भी कर ली थी। उसके दो बच्चे है। राहुल बीती 23 अगस्त से घर से लापता है। परिजनों ने 25 अगस्त को उसकी गुमशुदगी थाने में दर्ज कराई थी। राहुल के भाई जीताराम मीणा ने घाटपरासिया में मिले नरकंकाल के समीप मिले कपड़े के आधार पर शिनाख्त की है। थाना प्रभारी महेन्द्र मिश्रा का कहना है कि गुम व्यक्ति का नरकंकाल होने की संभावना है। हालांकि डीएनए टेस्ट रिपोर्ट के आधार पर ही तय होगा कि शव किसका है। अभी अज्ञात मृतक मानकर मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।
गड्ढे में दबी मिली हड्डियां -
जीताराम मीणा ने बताया कि जिस स्थान पर नरकंकाल मिला है। हड्डी के कुछ हिस्से गड्ढे में दबे थे। इससे शंका बनी हुई है कि भाई की हत्या कर शव यहां दफनाया गया है। पुलिस ने गड्ढे में दबी हड्डियां इक_ी कर पीएम कराया है।
पत्नी और सास नहीं कर पाई पहचान-
तीन माह से लापता राहुल की पत्नी किरण और सास सुशीला ने घटनास्थल पर मिले कपड़े को पहचानने से इनकार कर दिया है। इस वजह से पुलिस डीएनए टेस्ट के लिए हड्डी फॉरेंसिक जांच के लिए सागर लैब भेजेगी।