दैनिक भास्कर हिंदी: BAMS पोस्ट ग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट के नतीजों पर HC ने लगाई रोक

July 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच ने ऑल इंडिया मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट के नतीजों पर स्थगन लगाया है। जिसके नतीजे 19 जुलाई को आने वाले थे। दरअसल 24 जून को नागपुर समेत देश भर में परीक्षा हुई थी। जरिपटका स्थित नेक्सटेक टेक्नोलॉजी नामक परीक्षा केंद्र में परीक्षा देने वाले 18 परीक्षार्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर परीक्षा में सामूहिक नकल के आरोप लगाए है।

मामले में सभी पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने नतीजों पर स्टे लगाया दिया। कोर्ट ने ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद और केंद्रिय आयुष मंत्रालय को मामले की पूरी पड़ताल करने, केंद्र के CCTV फुटेज खंगाल कर वास्तविकता का पता लगाने और दोषियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 26 जुलाई को रखी है।

सभी विद्यार्थी शहर के कई चिकित्सा महाविद्यालयों के बीएएमएस के विद्यार्थी हैं। विद्यार्थियों के अनुसार वे 24 जून को उक्त परीक्षा केंद्र पर आयुर्वेद एमडी और एमएस पाठ्यक्रम की परीक्षा देने गए थे। परीक्षा प्रमुख, पर्यवेक्षक और निरीक्षकों की देख-रेख में यह परीक्षा हुई, लेकिन परीक्षा पर किसी का भी कोई नियंत्रण नहीं था। लिहाजा अनेक विद्यार्थियों ने एक-दूसरे से चर्चा कर प्रश्न हल किए। यह पूरा माजरा केंद्र में लगे CCTV कैमेरों में कैद हुआ। याचिकाकर्ता ने मामले में जरिपटका पुलिस थाने में शिकायत भी की, लेकिन अब तक न तो पुलिस ने और न ही आयुष मंत्रालाय ने इस मामले में कोई कार्रवाई की। 

जब कोई नतीजा नहीं निकला तो विद्यार्थियों ने हाईकोर्ट की शरण ली। विद्यार्थियों ने अपनी याचिका में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश जारी करने की प्रार्थना की है। साथ ही प्रकरण की जांच पूरी होने तक परीक्षा परिणाम जारी नहीं करने का आदेश देने का अनुरोध किया। मामले में याचिकाकर्ता की ओर से एडवोकेट अनूप ढोरे और आयुष मंत्रालय की ओर से एडवोकेट नीरजा चौबे ने पक्ष रखा।