comScore

छिंदवाड़ा को कैसे चोट पहुँचाएं शिवराज सरकार का यही लक्ष्य: कमलनाथ

छिंदवाड़ा को कैसे चोट पहुँचाएं शिवराज सरकार का यही लक्ष्य: कमलनाथ


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा तीन सदस्यीय मंत्रिमंडलीय समिति के जरिए कांग्रेस शासन के दौरान हुए कार्यों की जांच और खासतौर पर छिंदवाड़ा में शुरू हुए हजारों करोड़ के कामों की जांच पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ मुखर हुए। कहा कि कोई भी जांच करें, कौन सी गलत बात हुई है। जो खुद गलत करते हैं उन्हें लगता है कि जांच कराएंगे तो कुछ निकल आएगा। श्री नाथ ने कहा कि भाजपा की यहां एक भी सीट नहीं है। ऐसे में छिंदवाड़ा को कैसे चोट पहुंचाएं ये इनका लक्ष्य है। सत्ता जाने के बाद पहली बार छिंदवाड़ा लौटे कमलनाथ ने बुधवार को अपने निवास शिकारपुर में पत्रकारों से चर्चा में यह बात कही। उन्होंने अपनी बात रखी और तमाम तरह के सवालों के जवाब दिए।
श्री नाथ ने कहा कि 15 माह की उनकी सरकार में करीब साढ़े 12 माह उन्होंने काम किया। करीब ढाई माह का वक्त लोकसभा चुनाव आचार संहिता में निकल गया। साढ़े 12 माह में उन्होंने प्रदेश के विकास का नया नक्शा बनाने का प्रयास किया। शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और किसानों की बेहतरी के लिए प्रयास किए। प्रदेश की जनता ने हमारी नीति और नीयत पहचानी है।
पद जाने का दुख नहीं-
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पद जाने का उन्हें दुख नहीं है। बिना पद के भी वे रहे हैं। दुख इस बात का है कि जो प्रदेश वे बनाना चाहते थे उसके लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाया। उन्होंने कहा कि शुद्ध के लिए युद्ध, माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई, पेंशन, सामूहिक विवाह, किसान कर्ज माफी की। पहले चरण में 21 लाख किसान और दूसरे चरण में 6 में से 4 लाख किसानों का कर्ज माफ किया। तीसरे चरण में जून से कर्ज माफी होना था। वे चाहते हैं कि किसानों के साथ न्याय हो।
मैं पद के लिए सौदे के पक्ष में नहीं था-
श्री नाथ ने कहा कि पहली दफा भोपाल में सौदेबाजी से सरकार बनी। छोटा सौदा छिप जाता है, लेकिन बड़ा सौदा नहीं छिपता। इतना बड़ा सौदा था कि विधायक फिसल गए। सौदे की राजनीति से मेरा परिचय नहीं था। मैंने बहुत सी सरकारें बनते और बिगड़ते देखी है। मैं पद के लिए सौदे के पक्ष में नहीं था। मैंने सैद्धांतिक और नैतिक मूल्यों से समझौता नहीं किया।
यहां घटिया राजनीति की शुरूआत-
पिछले दिनों हुए पोस्टर कांड का जवाब देते हुए कमलनाथ ने कहा कि मैं यहां आता तो नियमों का उल्लंघन होता। घटिया राजनीति वाले कुछ लोग कह रहे हैं कि मैं नहीं आया। यह जिले में घटिया राजनीति का उत्पादन है। अब तीन दिन पहले छूट मिली, ग्रीन जोन होते ही 3 दिन में मैं पहुंच गया।
उपचुनाव पर बोले...24 में से 20-22 सीटें जीतेंग-
प्रदेश में 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर पीसीसी अध्यक्ष श्री नाथ ने कहा कि वे 20 से 22 सीटें जीतेंगे। पिछले दो माह से भोपाल में रहकर उन्होंने तैयारियों पर फोकस किया है। उपचुनाव में जनता मुंहतोड़ जवाब देगी। जनता कहेगी कि तुम बिक सकते हो जनता नहीं बिकेगी। वह सैद्धांतिक और नैतिक मूल्यों से समझौता नहीं करेगी।
पेंच थर्मल पॉवर का फैसला कराया-
श्री नाथ ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री रहते प्रदेश व जिले में जो विकास शुरू किया अब न जाने वह किस खटाई में पड़ा है। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा में उन्होंने रुका हुआ पेंच थर्मल पॉवर प्लांट का फैसला कराया। उम्मीद है आने वाले समय में इस पर कार्य जारी रहेगा।
मजदूरों के लिए कोई प्लान नहीं-
श्री नाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी निशाना साधा। कहा कि लॉकडाउन लागू कर दिया लेकिन मजदूरों की चिंता नहीं की। पीएम मोदी को पता ही नहीं था कि देश में मजदूर भी हैं। गुजरात में मजदूर नहीं हैं लेकिन मप्र समेत 6-7 राज्यों के मजदूर दूसरे राज्यों में हैं। वहीं शिवराज मेरे द्वारा कोविड 19 की बात कहे जाने पर मजाक बनाया कहा कमलनाथ ज्योतिषी हैं। उस समय संक्रमण नहीं था। अब पूरा प्रदेश चपेट में है।

कमेंट करें
v2Ij9