दैनिक भास्कर हिंदी: वेतन संशोधन की मांग को लेकर हड़ताल पर IDBI बैंक कर्मचारी

October 24th, 2017

डिजिटल डेस्क,मुंबई। अपनी लंबित मांगों को लेकर IDBI कर्मचारियों ने मुंबई के IDBI टावर्स के सामने प्रदर्शन किया। कर्मचारी मजदूरी संशोधन के मुद्दे पर दो दिनों की हड़ताल कर रहे हैं। कर्मचारी यूनियन का कहना है वर्तमान में IDBI बड़ी ब्रांच होने के बावजूद NPA के कारण गहरे संकट में है। कर्मचारियों ने इसके पहले भी प्रबंधन को आगाह करते हुए अपनी मांगें रखी थी, लेकिन IDBI जानबूझकर देरी कर रहा है।

कंपनी की नीति का विरोध करते हुए कर्मचारियों और अधिकारियों ने IDBI टावर्स के सामने प्रदर्शन किए। प्रदर्शन के बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए जनरल सेक्रेटरी सी .एच. वेंकटचलम ने प्रबंधन को चेतावनी दी है कि यदि प्रबंधन उचित समय में कोई ठोस कदम नहीं उठाता है और कर्मचारियों के हित में कोई निर्णय नहीं लेता है तो एआईबीईए और एआईबीओ दिसंबर में राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेगी। 

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBA) का कहना है कि IDBI बैंक के कर्मचारी लंबे समय से लंबित पड़े वेतन संशोधन की मांग को लेकर हड़ताल कर रहे हैं। बाकी बैंकों के निपटान के समान ही IDBI बैंक के कर्मचारियों और अधिकारियों के वेतन संशोधन का काम एक नवंबर 2012 से 31 अक्तूबर 2017 से होना चाहिए। बाकी बैंकों में वेतनमान संशोधन का काम पहले ही किया जा चुका है और एक नवंबर 2017 से आगे के वेतनमान संशोधन के लिए चर्चा की जा रही है।


फिर जेटली के सामने रखेंगे मुद्दा

जनरल सेक्रेटरी सी .एच. वेंकटचलम ने कहा कि IDBI बैंक में दो दिनों की हड़ताल होगी। जिसमें कर्मचारियों और अधिकारियों के रुके वेतन संशोधन के काम को पूरा करने की मांग की जाएगी। उन्होंने कहा कि बाकी यूनियनों के साथ एसोसिएशन IDBI बैंक के समर्थन में हर संभव समर्थन देगी और सभी बैंकों में हड़ताल का आह्वान करेगी। वेंकटचलम ने कहा कि एसोसिएशन ने यह मुद्दा पिछले महीने वित्तमंत्री अरुण जेटली के सामने उठाया था । एक बार फिर उनके सामने मुद्दा उठाया जाएगा।