दैनिक भास्कर हिंदी: स्मार्ट फोन नहीं है, तो प्रिंटेड नोट्स से जारी रहेगी पढ़ाई

June 22nd, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण के कारण स्कूलों ने ऑनलाइन क्लासेस शुरू कर दी हैं, लेकिन उन बच्चों को परेशानी हो रही है, जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं हैं मनपा का सर्वे बताता है कि ऐसे विद्यार्थियों की संख्या 32 प्रतिशत है। ऐसी स्थिति में शहर के कुछ स्कूलों ने अपने स्तर पर प्रयास शुरू किए हैं। जिन विद्यार्थियों के पास स्मार्ट फोन की सुविधा नहीं है, उन्हें नोट्स प्रिंट करवा कर दिए जा रहे हैं, ताकि उनकी पढ़ाई न रुके। महल स्थित "हिंदू मुलींची शाला' ने पालकों को पत्र लिख कर इसकी सूचना दी है। पालकों को इन नोट्स की फोटो कॉपी करके अन्य विद्यार्थियों में वितरित करने की भी अनुमति दी गई है।

एक फोन की जरूरत

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने 15 जून से प्रदेश भर में शैक्षणिक सत्र शुरू कर दिया है। स्कूलों को ऑनलाइन क्लासेस लेने को कहा गया है। नागपुर में भी इसका पालन हो रहा है। वीडियो लेक्चर, पीडीएफ-वर्ल्ड फाइल में नोट्स, ग्रुप कॉलिंग के जरिए पढ़ाई हाे रही है, लेकिन ऑनलाइन क्लास के लिए मुख्य जरूरत एक स्मार्ट फोन की है। दिक्कत यह है कि हर कोई अपने बच्चे को स्मार्ट फोन देने की स्थिति में नहीं है। लॉकडाउन के कारण पालकों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। ऐसे में स्कूल भी अब पालकों की तकलीफ समझ कर अपनी ओर से मदद का हाथ बढ़ाते नजर आ रहे हैं।