दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रैक जांच कर रहे कर्मचारी की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत

April 10th, 2019

डिजिटल डेस्क, शहडोल। संहपुर-बुढ़ार के बीच छाता स्टेशन के समीप रेलवे कर्मचारी यूएसएफडी मशीन से पटरी की जांच कर रहे थे। इसी दौरान धड़धड़ाते हुए मालगाड़ी आ गई। इस हादसे में जहां एक ट्रैक मैन की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, तो वहीं अन्य चार गंभीर रूप से घयल हुए हैं। हादसे के बाद कई गाड़ियां प्रभावित रहीं और रेल यातायात बाधित रहा।

मौके पर पहुंचे वरिष्ठ अधिकारी
मालगाड़ी की चपेट में आने से रेलवे के ट्रैक मैन की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि चार अन्य कर्मचारी चोटिल हो गए। यह दुर्घटना मंगलवार की सुबह करीब 10.25 बजे सिंहपुर-बुढ़ार के बीच छाता स्टेशन के बीच उस समय हुई, जब रेलवे कर्मचारी यूएसएफडी मशीन से पटरी चेक कर रहे थे। घटना की जानकारी मिलते ही बिलासपुर मण्डल कार्यालय से वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे और जायजा लिया। मिली जानकारी के अनुसार सिंहपुर से पेण्ड्रा स्टेशनों के बीच रेल पटरियों की चेकिंग का दायित्व रेलवे के पेण्ड्रा स्थित कर्मचारियों की है।

उछलकर दूर गिर गए अन्य कर्मचारी
सुबह कटनी लोकल से छाता स्टेशन उतरने के बाद पांच कर्मचारी अल्ट्रा सोनिक प्रणाली की यूएसएफडी मशीन से पटरी चेक करने लगे। पटरी पर मशीन को चलाते शहडोल की ओर बढ़ रहे थे। छाता स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक थोड़ा घुमावदार है, जिससे आगे दिखाई नहीं देता। इसी समय शहडोल की ओर से एक मालगाड़ी धड़धड़ाते हुए आ पहुंची, जब तक कर्मचारी बचते मशीन मालगाड़ी की चपेट में आकर चकनाचूर हो गई। बाकी कर्मचारी तो उछलकर बच निकले, लेकिन ट्रैक मैन मुकेश चंद चौधरी 35 वर्ष पिता रामेश्वर की मौत हो गई। बाकी चार कर्मचारियों को भी चोट आई।

प्रभावित रहीं कई ट्रेनें
हादसे के बाद डाउन लाइन पर करीब 2 घंटे तक ट्रेनों का आवागमन बाधित रहा। मालगाड़ी के नीचे फंसे मशीन के अवशेषों को निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। शहडोल व बुढ़ार से तकनीकी कर्मचारियों को बुलाया गया, जिन्होंने मलबा हटाया। वहीं सूचना मिलने के बाद बिलासपुर हेड क्र्वाटर से वरिष्ठ मंडल अभियंता आरके सिंह व सौरभ बंदोपाध्याय के साथ अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।

खबरें और भी हैं...