comScore

भारत की पर्वतारोही भावना डेहरिया ने अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारों पर मनाई दिवाली

भारत की पर्वतारोही भावना डेहरिया ने अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारों पर मनाई दिवाली

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। तामिया की रहने वाली 27 साल की भारतीय पर्वतारोही भावना डेहरिया ने अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारों पर दीपावली के दिन फतह हासिल कर भारत का तिरंगा लहराया। समुद्र तल से 5,895 मीटर यानी 19 हजार 341 फीट ऊंची उहुरू शिखर पर भारतीय पर्वतारोही भावना डेहरिया ने 27 अक्टूबर 2019 दीपावली के दिन शिखर पर दीपक रख कर इको फ्रेंडली दीवाली मनाने का संदेश दिया। साथ ही पॉलीथिन के हर व्यक्ति को अपने स्तर पर कम उपयोग करने का आह्वान किया। भोपाल से फिजिकल एजुकेशन में एमपीइडी मास्टर्स की पढ़ाई करने वाली भावना डेहरिया ने अकेले ही यह चढ़ाई पूरी की। इस दौरान उनके साथ तंजानिया के गाइड थे। भावना ने यह ट्रैक 23 अक्टूबर को तंजानिया से शुरू किया और 26 अक्टूबर को रात 12 बजे आखरी कैम्प किबो हट से फाइनल चढ़ाई शुरू कर 7 घंटे 43 मिनट में किलिमंजारों की सबसे ऊंची चोटी उहुरू शिखर पर सुबह 7.43 बजे समिट किया। 
रिकार्ड समय में तय की चढ़ाई
बतौर भारतीय महिला इतना कम समय में यह चढ़ाई अपने आप मे एक रिकॉर्ड है। भावना डेहरिया ने इसी साल 22 मई को दुनिया की सबसे ऊंचे शिखर माउंट एवेरेस्ट (8848 मी.) पर भी फतेह हासिल की थी और उसी दिन समिट करने वाली मध्यप्रदेश की प्रथम महिलाओं में एक होने का स्थान पाया है। पर्वतारोही  सुश्री भावना डेहरिया ने सोमवार 21 अक्टूबर को जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा के निवास सम्मान समारोह में शामिल होने के बाद भोपाल से 21 अक्टूबर को ही दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना हुई थी। दस दिवसीय अभियान में किलिमंजारों पर्वत चोटी की चढ़ाई करने के दौरान पर्वतारोही सुश्री भावना डेहरिया ने दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची पर्वत चोटी किलिमंजारों की चढ़ाई पूरी कर वही दिपावली मनाई। छिंदवाड़ा जिला के तामिया विकासखण्ड के शिक्षक एम. एल. डेहरिया की पुत्री सुश्री भावना डेहरिया ने बताया कि विश्व की सर्वोच्च पर्वत चोटी एवरेस्ट पर विजय प्राप्त की है। सुश्री भावना डेहरिया ने बताया कि विश्व की सर्वाधिक ऊंचाई वाले सात पर्वतों के शिखर पर चढ़ाई अभियान पूरा करना उनकी भविष्य की योजना है। अपने अभियान के बाद 31 अक्टूबर को भावना भारत वापस आएगी।
 

कमेंट करें
Yv2Ng