comScore

उमरेड के व्यापारी को लूटने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

उमरेड के व्यापारी को लूटने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उमरेड के व्यापारी निकेश महेश तोलानी के सिर पर घातक शस्त्र से हमला कर उसे गंभीर रुप से जख्मी कर 8.53 लाख रुपए का माल लूटकर फरार हो गए थे। इन आरोपियों के गिरोह को नागपुर ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस के दस्ते ने धरदबोचा। इस अंतरराज्यीय गिरोह में आरोपी सुमित प्रभाकर सोमकुवर (22)  अंबाडी, सौंसर, जिला छिंदवाडा म.प्र., मंगेश उर्फ गुड्डू बिरजू पडोलिया (23), मंगेश संतोष खरपुरिया (21)  वाढोणा , काटोल,  सैयद यासीन उर्फ चिनी सैयद कलीम (19) यादवनगर एकता कॉलोनी प्लाट नंबर 14, यशोधरागनर कलमना रोड नागपुर और कासीम उर्फ पप्पू अहमदखां पठान (25)  सुरेंद्रगढ गौसिया मस्जिद के पास गिट्टीखदान निवासी शामिल है। इस गिरोह का एक आरोपी फरार बताया जा रहा है। 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गत 14 अक्टूबर 2019 को शामि करीब 7.54 बजे उमरेड के व्यापारी निकेश महेश तोलानी (29) यूनियन बैंक इतवारी, उमरेड शाखा में उनकी पूजा एजेंसी में व्यवसाय के पैसे जमा करने के लिए जा रहे थे। इस दौरान 4  अज्ञात आरोपियों ने बैंक सीढियों के पास निकेश पर घातक शस्त्र से सिर पर हमला कर गंभीर जख्मी कर दिया। उसके बाद उन बदमाशों ने उनकी बैग छीनकर फरार हो गए। बैग में नकदी 8,53,000 रुपए थे। घटना के बाद निकेश तोलानी को अस्पताल पहुंचाया गया। उसके बाद घायल निकेश की शिकायत पर उमरेड पुलिस ने लूटपाट का मामला दर्ज किया। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश ओला ने ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस को इस प्रकरण की जांच कर आरोपियों की धरपकड करने की जिम्मेदारी सौंपी। उक्त घटना के एक सप्ताह बाद ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस ने आरोपियों की तकनीकी व गुप्त सूत्रों के माध्यम से पता निकाला और उन्हें धरदबोचा।

गिरफ्तार आरोपियों में नागपुर, मध्यप्रदेश और काटोल के लुटेरे शामिल हैं। आरोपियों के नाम सुमित सोमकुवर ,मंगेश उर्फ गुड्डू पडोलिया, मंगेश खरपुरिया,  सैयद यासीन उर्फ चीनी सैयद कलीम ,  और कासीम उर्फ पप्पू अहमदखां पठान  निवासी है। इन पांचों आरोपियों को पुलिस ने उमरेड के युवा व्यापारी निकेश तोलानी के साथ लूटपाट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उक्त आरोपियों की धरपकड के लिए दो दस्ते बनाए गए थे। ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस विभाग के निरीक्षक अनिल जिट्टावार के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस विभाग के सहायक पुलिस निरीक्षक जितेंद्र वैरागडे,  पंकज वाघोडे,  उपनिरीक्षक सचिन मत्ते,  जावेद शेख, लक्ष्मीप्रसाद दुबे, हवलदार जयप्रकाश शर्मा , रमेश भोयर, राजेंद्र सनोडिया,  अविनाश राऊत, पुलिस नायब दिनेश अदापुरे , रामा आडे, सिपाही राधेशाम कांंबले, बालाजी साखरे, सिपाही प्रणय बनाफर, सत्यशिल कोठारे,  अमोल वाघ,  साहेबराव बहाले,  अमोल कुथे व साइबर सेल के सिपाही सतीश राठोड ने कार्रवाई में मदद की।
 
ट्रक चालक कासिम ने दी टीप
पुलिस सूत्रों के अनुसार कासिम उर्फ पप्पू अहमदखां पठान ने निकेश तोलानी के बारे में डकैतों के गिरोह को टीप दी थी। आरोपी कासिम उर्फ पप्पू अहमदखां पठान के बारे में पता चला है कि हिंंदुस्तान लीवर कंपनी के गोदाम फेटरी में ट्रक चालक के रुप दो वर्ष से पहले काम किया था।  कंपनी के उत्पादित माल उमरेड स्थित पूजा एजेंसी में लेकर जाता था। वहां पर कासिम ने एजेंसी के मालिक  निकेश महेश तोलानी को एजेंसी के व्यवसाय की बड़ी रकम बैंक में लेकर जाते हुए देखा था। कासिम ने इस मामले में अपने मित्रों को बताया और डकैती की योजना बनाई। घटना को अंजाम देने के पहले आरोपी मंगेश उर्फ गुड्डू बिरजू पडोलिया व मंगेश संतोष खरपुरिया, सैयद यासीन उर्फ चिनी सैयद कलीम को पप्पू उमरेड में लेकर गया और निकेश का चेहरा दिखाया था। उसके बाद आरोपियों ने निकेश के बैंक जाने के रास्ते और उसके कार्यालय से बैंक के लिए निकलने के समय के बारे में रेकी किया। उसके बाद आरोपियों ने बैंक के पास ही निकेश को लूटने की योजना बनाई। उसके बाद आरोपियों लूटपाट को अंजाम दिया। उक्त घटना के बाद ग्रामीण पुलिस अधीक्षक  राकेश ओला , अपर पुलिस अधीक्षक मोनिका राऊत (नागपुर ग्रामीण) के मार्गदर्शन में ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस विभाग को कार्रवाई का आदेश दिया गया।

कमेंट करें
w2AR5