comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कमलनाथ बोले- कोरोना संक्रमण रोकने में सरकार फेल, मौतों के सरकारी आंकड़े बनावटी

April 08th, 2021 22:46 IST
कमलनाथ बोले- कोरोना संक्रमण रोकने में सरकार फेल, मौतों के सरकारी आंकड़े बनावटी



डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना महामारी संक्रमण को रोकने में पूरी तरह से फेल हो गई है। उन्होंने सिस्टम पर खड़े करते हुए कहा कि सच पता करना हो तो श्मशान में जाकर शवों की गिनती करें, सरकारी आंकड़े बनावटी व सच को छुपाने वाले हैं। कहा कि जिले के सौंसर में डेढ़ सौ मौतें हो गई, जिसका कोई हिसाब नहीं है। गुरुवार को एक दिनी प्रवास पर छिंदवाड़ा आए कमलनाथ ने प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर गंभीर आरोपों के साथ कई सवाल खड़े किए। इससे पहले उन्होंने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेकर कोविड 19 संक्रमण की रोकथाम के उपायों की समीक्षा की।
सेकंड वेव की चेतावनी के बाद भी इंतजाम नहीं:
श्री नाथ कहा कि तीन महीने पूर्व से ही राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य संगठनों ने चेतावनी दी थी कि कोरोना का सेकंड वेव आने वाला है, फिर भी सरकार ने कोई इंतजाम नहीं किए। जिसका परिणाम यह है कि आज प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई हैै। अस्पतालों में न बिस्तर हंै न दवाइयां हैं और न ही इलाज हो पा रहा है। आम जनता भगवान भरोसे प्राइवेट अस्पतालों के हाथों लुटने पर मजबूर है। वहां भी जगह नहीं है, बिस्तर के लिए बोली लगानी पड़ रही है।
सवाल...क्या नाटक-नौटंकियों से कोरोना भाग जाएगा-
श्री नाथ ने कहा कि जनता को इस बदहाल व्यवस्था के सहारे छोड़कर मुख्यमंत्री रोज नई-नई नौटंकियां कर रहे हैं। कभी सत्याग्रह का टेंट लगा लेते हैं, कभी सायरन बजवाने लगते हैं, कभी घ्ंाटी तो कभी ताली थाली बजवाते हैं। श्री नाथ ने कहा कि क्या इस तरह की नाटक नौटंकी से कोरोना भाग जाएगा। उन्होंने कहा कि नौटंकी का शौक है तो वालीबुड जाएं। श्री नाथ ने कहा कि मैं सीएम शिवराज सिंह से आग्रह करता हंू कि इस प्रकार की नौटंकी बंद कराएं और जनता को आवश्यक दवाएं व इंजेक्शन के साथ इलाज मुहैया कराएं।
आरोप... मैंने मरीजों को मुफ्त इंजेक्शन दिए, मालूम पड़ा कि उसके रुपए लिए जा रहे-
पीसीसी अध्यक्ष ने कहा कि जिले के मरीजों के लिए मैंने व्यक्तिगत तौर पर रेमडेसिविर इंजेक्टशन मरीजों को नि:शुल्क लगाने के लिए उपलब्ध कराए। दमोह में मुझे फोन पर सूचना मिली की जिला अस्पताल में आपने जो इंजेक्शन उपलब्ध कराएं हैं उसके तो रुपए लिए जा रहे हैं। 4 हजार रुपए में इंजेक्शन मिल रहा है। श्री नाथ ने सरकार को घेरते हुए कहा कि आवश्यक दवाओं इंजेक्शनों की खुलेआम कालाबाजारी हो रही है।
लॉकडाउन पर कहा-आग लगने के बाद कुआं खोद रहे-
अब लॉकडाउन लगाए जाने पर कमलनाथ ने कहा कि जब आग लग चुकी है तब कुंआ खोदने की तैयारी हो रही हैं। ऑक्सीजन एवं दवाओं की उपलब्धता के लिए फंड न होने की जानकारी मिलने पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह विफल हो चुकी है। छिंदवाड़ा के लिए मैं अपनी तरफ से व्यवस्था बनाने की हर संभव कोशिश करूंगा एवं प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री से बात करूंगा।
मदद का भरोसा दिलाया कहा- इंजेक्शन और जरूरी दवाई उपलब्ध कराएंगे:
कमलनाथ ने कहा कि मैंने व्यक्तिगत रूप से 240 रेमडिसिविर इंजेक्शन एक दिन पहले भिजवाए थे। आज मैं अपने साथ लेकर आया हूं। आगे भी इंजेक्शन आते रहेंगे। मेरा यह प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा इंजेक्शन छिंदवाड़ा के कोरोना पीडि़तों को मिल सकें। इसके अलावा कोरोना वायरस के उपचार के लिए आवश्यक फेवी फ्लू मेडिसिन की हजारों गोलियां भी अतिशीघ्र छिंदवाड़ा वासियों को नि:शुल्क उपलब्ध कराने की बात उन्होंने कही। श्री नाथ ने जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण व्यथित होते हुए कहा कि संपूर्ण जिले से प्राप्त जानकारियों ने मुझे विचलित कर दिया है।

कमेंट करें
TuVvO