दैनिक भास्कर हिंदी: किडनी चोर गैंग की दहशत से शाम होते ही गोंदिया में हो जाता है सन्नाटा, जानिए क्या है बात

June 14th, 2018

डिजिटल डेस्क,गोंदिया ।  सोशल मीडिया पर गोंदिया शहर में किडनी चोरों का गिरोह सक्रिय होने की अफवाह फैलाई जा रही है। इससे जहां शहर में दहशत व्याप्त है वहीं इसका विपरित परिणाम निरपराध लोगों को भुगतना पड़ रहा है। दवनीवाड़ा, रावनवाड़ी व गोरेगांव पुलिस थानांतर्गत ग्रामों में अज्ञात युवक व महिलाओं को पकड़कर पुलिस के हवाले किया जा रहा है, जबकि इस तरह की कोई घटनाएं हुई ही नहीं है। किडनी चोरों की दहशत इतनी अधिक है कि ग्रामीण इलाकों की सड़कें शाम होते ही सुनसान हो जाती हैं।

संदेह में महिलाओं को पकड़ा
बता दें कि सोशल मीडिया  पर यह अफवाह जोरों से चल रही है कि जिले में किडनी चोरों का गिरोह दाखिल हो चुका है।  इससे संबंधित फोटो भी वायरल किए जा रहे हैं। तीन दिन पूर्व गोरेगांव के नागरिकों ने किडनी व बच्चा चोरी के आरोप में  दो महिलाओं को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। जांच करने पर दोनों महिलाएं मानसिक रोगी निकलीं। इसके बाद उन महिलाओं को उनके परिवार को सौंप दिया गया। इसके बाद दवनीवाड़ा पुलिस थानांतर्गत ग्रामीणों ने एक युवक को पकड़ लिया। पुलिस ने इसी भी जांच की तो वह भी मानसिक रोगी निकला। 12 जून की रात को रावनवाड़ी पुलिस थानांतर्गत मोहरानटोली में भी एक युवक को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसे भी पुलिस के हवाले कर दिया। जब उसकी भी जांच की तो वह घमेले एवं अन्य सामग्री बेचनेवाला निकला। इससे  स्पष्ट होता है कि ऐसा कोई गिरोह सक्रिय नहीं है। सोशल मीडिया पर ऐसी गलत जानकारी फैलाना निंदनीय कार्य है।

अफवाहें न फैलाएं : पुलिस अधीक्षक
इस संदर्भ में गोंदिया वाट्सअप ग्रुप के सदस्य जिला पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर घटनाओं की सही जानकारी मांगी तो पुलिस अधीक्षक दिलीप भुजबल पाटिल ने कहा कि सोशल मिडिया से अफवाह फैलाई जा रही है। ऐसा कोई गैंग सक्रिय नहीं है। जिला पुलिस अधीक्षक ने अफवाहें न फैलाने का आह्वान किया है।