दैनिक भास्कर हिंदी: बीएसएनएल पर डीएसए का लाखों रुपए बकाया -सर्किल ऑफिस मुंबई से नहीं आ रहा पेमेंट 

February 17th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) पर डायरेस्ट सेलिंग एजेंट (डीेएसए) का लाखों रुपए का बिल बकाया है। डीएसए घर-घर जाकर उपभोक्ताओं को बीएसएनएल के सीम कार्ड, ब्राडबैंड कनेक्शन व टेलीफोन कनेक्शन देने का काम करते है। बीएसएनएल नागपुर से नवंबर 2018 तक का बिल अकाउंट सेक्शन के माध्यम से सर्किल आफिस मुंबई भेजा गया, लेकिन अभी तक भुगतान नहीं हो सका है। बीएसएनएल नागपुर के जिले में करीब 50 डीएसए है। संचार क्रांति का बीएसएनएल के बिजनेस पर जबरदस्त असर हुआ है। डीएसए घर-घर जाकर बीएसएनएल के कनेक्शन व उपकरण बेचने का काम करते है। डीएसए को पिछला पेमेंट अप्रैल 2018 में हुआ था। जो पेमेंट हुआ था, वह मार्च 2018 तक ही हुआ था। पिछले ग्यारह महीने से डीएसए पेमेंट का इंतजार कर रहे है। समय पर पेमेंट नहीं मिलने से अधिकांश डीएसए काम के प्रति बहुत ज्यादा सक्रिय नजर नहीं आते। 11 महीने का 5 लाख से ज्यादा का पेमेंट बकाया है। डीएसए बिल के लिए स्थानीय कार्यालय पहुंचते है, लेकिन सर्कल आफिस से पेमेंट नहीं होने का जवाब दिया जाता है। 

मेरी तरफ से फाइल भेज दी गई 

नवंबर 2018 तक बिल से संबंधित सारी प्रक्रिया पूरी कर फाइल अकाउंट सेक्शन को भेज दी गई है। अकाउंट सेक्शन से इसे सर्किल आफिस मुंबई भेजा गया है। मेरी तरफ से सारी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। सर्कल आफिस से सीधे डीएसए को पेमेंट होगा। सितंबर 2018 तक 2 लाख का पेमेंट बकाया था। सर्कल आफिस से जब पेमेंट रिलिज होगा, तभी डीएसए को भुगतान हो सकेगा। डीएसए अब काम के प्रति ज्यादा दिलचस्पी नहीं ले रहे। भुगतान कब तक हो सकेगा, यह अभी बताना मुश्किल है। 
आशीष जैन, उपविभागीय अभियंता (मार्केटिंग) बीएसएनएल नागपुर. 
 
बिजली बिल का संकट 

बीएसएनएल पर लाखों रुपए का बिजली बिल बकाया है। सर्किल आफिस से निधि नहीं मिलने से बिजली बिल का पूरा भुगतान नहीं किया जा सका। जिले में दो जगह की बिजली काट दी गई थी। जिले में आैर जगह यह नौबत न आए, इसलिए वरिष्ठ अधिकारियों ने ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले से मुलाकात कर समय मांगा था। नागपुर के अलावा अन्य जिलों में भी बिजली बिल बकाया है।
 

खबरें और भी हैं...