दैनिक भास्कर हिंदी: मेडिकल में कल निरक्षण करने पहुंचेगी विधायकों की टीम

April 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर । मेेडिकल की समस्याएं आए दिन सामने आती हैै लेकिन शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (मेडिकल) स्थित ट्रॉमा केयर सेंटर में भी कई तकनीकी खामियां सामने आने के बाद प्रशासन ने इसे गंभीरता से लिया है और अब इसका निरीक्षण करने विधायकों की टीम गुरुवार को पहुंच रही है। बता दें  कुछ समस्याओं को दूर कर ट्रॉमा को शुरू किया गया, लेकिन पूरी समस्याओं का समाधान अभी तक नहीं हुआ। इसके चलते गुरुवार को लोकलेखा समिति अध्यक्ष विधायक गोपालदास अग्रवाल के नेतृत्व में ट्रॉमा का दौरा होगा। इससे मेडिकल प्रबंधन में खलबली मची हुई है और सोमवार को ट्रॉमा में बैठक की गई।  आनन-फानन में खामियां दूर करने मेडिकल प्रशासन जुट गया है।

विकास कार्य पर खर्च हुए 150 करोड़ रुपए
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत मेडिकल में 150 करोड़ रुपए के विकासकार्य किए गए थे। तत्कालीन अधिष्ठाता डॉ.राजाराम पवार की अध्यक्षता में विभाग प्रमुख एवं लोकनिर्माण विभाग के इंजीनियरों की समिति ने ट्रॉमा के नक्शे को मंजूरी दे दी। इस पर एक विभाग प्रमुख ने ट्रॉमा में करीब 40 खामियां बताने पर विभाग प्रमुख को समिति से बाहर का रास्ता दिखाया गया। इसके बाद मेडिकल का अधिष्ठाता डॉ.अभिमन्यु निसवाडे को बनाया गया। इस बीच "ट्रॉमा केयर सेंटर का ड्रॉमा' अधिवेशन में उठाया गया तो माननीय न्यायालय ने ट्रॉमा को 2 माह मे चालू करने के निर्देश दिए और ट्रॉमा को अस्थायी रूप से चालू कर दिया गया जो आज भी अस्थायी रूप से चल रहा है। वहीं निरीक्षण के चलते  हाल ही में ट्रॉमा में अस्थिरोग विशेषज्ञ डॉ.अनिल गोल्हर की प्राध्यापक के रूप में नियुक्ति की गई जबकि यह पद ट्रॉमा चालू होने के बाद से खाली पड़ा है। 

यह है खामियां
बड़ी एंबुलेंस पहुंचने पर संशय बना हुआ है।
कैजुअल्टी के लिए जगह नहीं है।
परिजनों के लिए प्रतीक्षालय की व्यवस्था नहीं है।
सबसे ऊपर की मंजिल नहीं बनाई जा सकी।