दैनिक भास्कर हिंदी: सुबह हल्की बूंदाबांदी के बाद संतरा नगरी में दोपहर खिली सुनहरी धूप

July 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मंगलवार सुबह हल्की बूंदाबांदी के बाद संतरा नगरी में दोपहर सुनहरी धूप निकल गई। जबकि सोमवार रात से मंगलवार तड़के रुक-रुक कर बारिश होते रही। इससे पहले रविवार - साेमवार की दरमियान रात शुरू हुई बारिश सोमवार को भी जारी रही। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र धीरे-धीरे ओडिशा तट से पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। इसके प्रभाव से ही विदर्भ में भारी से अति भारी वर्षा दर्ज की गई। हालांकि संतरानगरी में हल्की मध्यम वर्षा हुई, लेकिन लगातार होती रही। उल्लेखनीय है कि मौसम विभाग ने सोमवार को विदर्भ के कुछ इलाकों में अतिभारी बरसात की चेतावनी जारी की थी।

गड़चिरोली, चंद्रपुर, ब्रह्मपुरी, गोंदिया तथा भंडारा में वर्षा का असर अधिक रहा। शेष स्थानों पर मध्यम से हल्की वर्षा दर्ज की गई। मौसम विभाग ने मंगलवार के लिए भी विदर्भ में भारी बरसात की चेतावनी जारी की है। इसके बाद वर्षा का जोर धीरे-धीरे घटने लगेगा। कम दबाव का क्षेत्र पश्चिम-उत्तर की ओर बढ़ रहा है। इसके कल तक मध्य भारत तक पहुंचने के आसार हैं। इसका प्रभाव मंगलवार को भी विदर्भ के उत्तर-पूर्व क्षेत्र के नागपुर, भंडारा, गोंदिया, चंद्रपुर तथा गड़चिरोली जिलों पर अधिक रहेगा।

मानसूनी द्रोणिका जैसलमेर, कोटा, सागर, अंबिकापुर, झारसुगड़ा व कम दबाव के क्षेत्र से होते हुए उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। एक और कम दबाव का क्षेत्र उत्तर बंगाल की खाड़ी में सिर उठा रहा है। इसके 19 जुलाई तक सक्रिय होने की संभावना है। 

रविवार रात 8:30 से सोमवार सुबह 8:30 बजे तक 12.3 मिमी (0.48 इंच यानी लगभग आधा इंच) वर्षा दर्ज की गई। सुबह 8:30 से रात 8:30 बजे तक 14.0 मिमी (0.55 इंच यानी आधे इंच से थोड़ा ज्यादा) वर्षा रिकार्ड की गई। अधिकतम तापमान 28.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो रविवार से 4 डिग्री तथा सामान्य से 3 डिग्री नीचे रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य पर 24.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। 

रामटेक में झमाझम बारिश
सोमवार सुबह डेढ़ घंटे तक लगातार हुई बारिश ने कहर बरपाया। नगर की कुछ बस्ती, मकान, घरों में पानी घुस गया। खाली जगह में जलभराव हो गया। विद्युत आपूर्ति बंद रही, जनजीवन प्रभावित हुआ। वहीं स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या भी सामान्य रही। जानकारी के अनुसार नगर के तहसील कार्यालय परिसर, रामतलाई मैदान, बस स्टैंड, सुपर मार्केट, आंबेडकर चौक, आजाद वार्ड, विनोबा भावे, तिलक, शनिवारी वार्ड में जलभराव रहा।

कई जगह नालियां, नाले साफ नहीं किए जाने से जलप्रवाह अवरुध्द हो गया था। जिसके चलते नालियों का गंदा पानी बाहर निकलकर सड़क पर बह रहा था। जिससे कई घरों में पानी घुस गया था। 
गांधी चौक में दिनभर बिजली गुल रही। गुरुकुलनगर, शिवनगर, शीतलवाड़ी, गौरवनगर, आनंदनगर ने तालाब का स्वरूप ले लिया था। अनेक घरों में पानी घुसने से लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ी। परिसर के तालाब, कुएं पानी से लबालब भर गए हैं। नाले उफान पर हैं।

तहसील में 500.3 मि.मी. बारिश 
सोमवार को सुबह आठ बजे आंकी गई बारिश के बाद रामटेक तहसील में अब तक अनुमानित 500 मि.मी. बारिश हुई है। जिसमें रामटेक सर्कल  में सर्वाधिक  641.8 मि.मी.,  देवलापार सर्कल में 345.3 मि.मी., नगरधन सर्कल में 514.3 मि.मी. और मुसेवाड़ी सर्कल में 516.6 मि.मी. बारिश हुई है। 

सोमवार को विमानों ने देरी से भरी उड़ान
बारिश के चलते सोमवार 16 जुलाई को डॉ.बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल पहुंचने वाले कई विमान लेट हुए। इससे वापस की उड़ान भी देरी से भर सके। जानकारी के अनुसार, जेट एयरवेज का दिल्ली जाने वाला विमान क्रमांक 658 तय समय शाम 5.20 बजे से एक घंटा देरी से, इंडिगो का कोलकता जाने वाला विमान क्रमांक 403 अपने तय समय शाम 6 बजे से एक घंटा देरी से, इंडिगो का बंगलुरु जाने वाला विमान क्रमांक 436 अपने तय समय रात 08.25 बजे से तीन घंटा देरी से एवं एयर इंडिया का मुंबई जाने वाला विमान क्रमांक अपने तय समय रात 9 बजे से डेढ़ घंटा देरी से उड़ान भर सके।