comScore

पश्चिम महाराष्ट्र-कोंकण पर मेहरबान ठाकरे सरकार- विदर्भ, मराठवाडा, उत्तर महाराष्ट्र का पलडा कमजोर 

पश्चिम महाराष्ट्र-कोंकण पर मेहरबान ठाकरे सरकार- विदर्भ, मराठवाडा, उत्तर महाराष्ट्र का पलडा कमजोर 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बदलने का असर राज्य के विदर्भ, मराठवाड़ा और उत्तर महाराष्ट्र इलाके पर पड़ा है। महाविकास आघाड़ी सरकार बजट में पश्चिम महाराष्ट्र और कोंकण विभाग पर मेहरबान नजर आ रही है। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तथा वित्त मंत्री अजित पवार और वित्त राज्य मंत्री शंभूराज देसाई दोनों पश्चिम महाराष्ट्र से आते हैं। अजित ने अपने गृह जिले पुणे और देसाई ने अपने गृह क्षेत्र सातारा पर खूब दरियादिली दिखाई। वहीं विदर्भ के उन्हीं जिलों के लिए योजना की घोषणाएं हो सकी हैं जिन जिलों से महाविकास आघाड़ी सरकार के मंत्री आते हैं। गौरतलब है कि पश्चिम महाराष्ट्र राकांपा तो कोंकण शिवसेना का गढ़ माना जाता है। 

साल 2020-21 के बजट में उपमुख्यमंत्री अजित ने अपने गृह जिले पुणे के लिए 170 किमी लंबा पुणे रिंग रोड की घोषणा की है। इससे नाशिक, औरंगाबाद, हैदराबाद, बेंगलुरु और मुंबई शहर से आने वाले वाहन शहर के बाहर से जा सकेंगे। पुणे रिंग रोड परियोजना के भूमि अधिग्रहण के लिए 15 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। एमएसआरडी के माध्यम से अगले चार सालों में परियोजना पूरी की जाएगी। पुणे के म्हालुंगे-बालेवाडी के शिवछत्रपति क्रीडा संकुल में अंतराष्ट्रीय दर्जे का खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। पुणे में ओलंपिक भवन बनाने की घोषणा की गई है। पुणे में अंतराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के लिए 4 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। पश्चिम महाराष्ट्र के पुणे और सोलापुर में नया हवाई अड्डा बनाया जाएगा। इसके लिए साल 2020-21 के बजट में 78 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। बजट में पुणे-पिंपरी चिंचवड मेट्रो परियोजना के अंतर्गत माण-हिंजेवाडी से शिवाजी नगर मेट्रो मार्ग के अलावा शिवाजी नगर से शेवालेवाडी तथा माण से पिरंगुट तक दो नए मेट्रो मार्ग शुरू करने का ऐलान किया गया है। इसके अलावा वनाज से रामवाडी मेट्रो लाइन का विस्तार करके वनाज से चांदणी चौक, रामवाडी से वाघोली और पिंपरी चिंचवड से स्वारगेट मार्ग की लंबाई बढ़ाकर स्वारगेट से कात्रज व पिंपरी चिंचवड से निगरी तक विस्तार किया जाएगा। 

पुणे के शिरूर तहसील में स्थित बावलेबाडी जिला परिषद स्कूल की तर्ज पर अगले चार सालों में 1500 आदर्श स्कूल बनाने की घोषणा की गई है। राज्य के प्रत्येक तहसील में कम से कम 4 आदर्श स्कूल बनाए जाएंगे। पाचगणी-महाबलेश्वर विकास के अंतर्गत तालाब के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। पुणे में नौकरीपेशा पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए 1 हजार निवासी क्षमता का हॉस्टल बनाया जाएगा। इसके अलावा पुणे और मुंबई विश्वविद्यालय में पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 500 निवासी क्षमता का हॉस्टल का निर्माण विचाराधीन है। सातारा में छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय के लिए 12 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। कोंकण के बाणकोट, केलसी, दाभोल और जयगड खाड़ी पर पुल बांधाकर पूरे मार्ग का कॉक्रिटीकरण किया जाएगा। इसके लिए एमएसआरडी को 3 हजार 500 करोड़ रुपए की आवश्यकता पड़ेगी। 

सातारा में बनेगा औद्योगिक गलियारा

दिल्ली-मुंबई औद्योगिक गलियारा (डीएमआइसी) की तर्ज पर बेंगलुरु-मुंबई आर्थिक गलियारा (बीएमईसी) के तहत सातारा जिले में अंतराष्ट्रीय दर्जे का औद्योगिक गलियारा विकसित किया जाएगा। इसका फायदा सातारा के साथ-साथ पड़ोसी जिले सांगली और सोलापुर को होगा। इस परियोजना पर 4 हजार करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। 

महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग 

हिंदू हृदय सम्राट बालासाहब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग पर 20 जगहों पर कृषि समृद्धि केंद्र बनाने का फैसला किया है। आगामी वर्षों में 4 कृषि समृद्धि केंद्र बनकर तैयार हो जाएंगे। समृद्धि महामार्ग के लिए सरकार खुद की निधि में से अतिरिक्त 8 हजार 500 करोड़ रुपए की परियोजना इक्विटी उपलब्ध कराएगी। इससे परियोजना की ब्याज की राशि 2500 करोड़ रुपए तक कम होगी। 

नए चिकित्सा महाविद्यालय 

उत्तर महाराष्ट्र के नंदूरबार में साल 2020-21 में नया सरकारी मेडिकल कालेज बनाया जाएगा। जबकि साल 2021-22 में सातारा, अमरावती और रायगड के अलीबाग में नया सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय का निर्माण होगा। इसके अलावा सातारा के पाटण ग्रामीण अस्पताल और भंडारा के साकोली के उपजिला अस्पताल का रूपांतरण 100 बेड के अस्पताल में किया जाएगा। 

राज्य में 12 सरकारी संस्थाओं में सेंटर फॉर एक्सीलेंस

राज्य सरकार ने 12 सेंटर फॉर एक्सीलेंस स्थापित करने की घोषणा की है। नागपुर, औरंगाबाद, पुणे और मुंबई के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज में सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाया जाएगा। औरंगाबाद, रत्नागिरी, कन्हाड के सरकारी फार्मास्यूटिकल कॉलेज और नागपुर, पुणे, रत्नागिरी के सरकारी पॉलिटेक्निक कालेज में भी सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाया जाएगा। 

वित्त मंत्री ने रखा मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्र का ख्याल 

वित्त मंत्री अजित पवार ने बजट में राज्य मंत्रिमंडल के अपने सहयोगियों के विधानसभा क्षेत्र का खास ख्याल रखा है। कांग्रेस नेता व प्रदेश की महिला व बाल विकास मंत्री यशोमती ठाकुर के विधानसभा क्षेत्र तिवसा में राज्यस्तरीय प्रशिक्षण केंद्र बनाने की घोषणा की गई है। प्रदेश के शिक्षा राज्य मंत्री बच्चू कडू के विधानसभा क्षेत्र अचलपुर के विकास के लिए प्रारूप बनाया जाएगा। महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष नाना पटोले के विधानसभा क्षेत्र साकोली में नया कृषि महाविद्यालय बनेगा। इसके अलावा साकोली के उपजिला अस्पताल को 100 बेड के अस्पताल में परिवर्तित किया जाएगा। प्रदेश के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे के वरली विधानसभा क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय पर्यटन कॉप्लेक्स का निर्माण होगा। राकांपा के विधायक तथा गृह निर्माण मंत्री कैबिनेट मंत्री जितेंद्र आव्हाड के कलवा-मुंब्रा विधानसभा क्षेत्र में हज हाऊस बनाने की घोषणा की गई है। राज्य के ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत के गृह शहर नागपुर में कोराडी देवी मंदिर परिसर में अभिनव ऊर्जा पार्क बनाया जाएगा।

कमेंट करें
Ry05w