महाराष्ट्र : सौर ऊर्जा परियोजना लगाने मंत्रिमंडल की मंजूरी

September 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र राज्य विद्युत उत्पादक कंपनी (महानिर्मिति) की ओर से राज्य के विभिन्न जगहों पर सौर ऊर्जा परियोजना स्थापित करने को राज्य मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। इसके लिए महानिर्मिति की ओर से आंशिक पूंजी उपलब्ध कराने को स्वीकृति दी गई है। बुधवार को मंत्रिमंडल ने राज्य में 187 मेगावाट क्षमता की परियोजना और 390 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना के लिए दो अलग-अलग प्रस्तावों को मंजूरी दी है। 

187 मेगावाट क्षमता की परियोजना के लिए निधि जुटाने को मंजूरी 

उस्मानाबाद के कौडगाव में 50 मेगावाट, लातूर के लोहारा स्थित सिंदाला में 60 मेगावाट, भुसावल के औष्णिक विद्युत केंद्र में इस्तेमाल में न आने  वाली जगह पर 20 मेगावाट, बीड़ के परली में 12 मेगावाट, नागपुर के कोराडी में 12 मेगावाट, नाशिक में 8 मेगावाट को जोड़कर कुल 52 मेगावाट क्षमता और धुलिया के साक्री स्थित शिवाजी नगर में 25 मेगावाट ऐसे कुल मिलाकार 187 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना लगाई जाएगी। 187 मेगावाट क्षमता के लिए आंशिक पूजी के रूप में 158 करोड़ 29 लाख रुपए की निधि महानिर्मिति के अंतर्गत स्त्रोत अथवा वित्तिय संस्थाओं से कर्ज के रूप में जुटाने की मान्यता दी गई है।  

390 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना 

महानिर्मिति इंजीनियरिंग प्रोक्योरमेंट एंड कंसट्रक्शन (ईपीसी) मोड पर वाशिम जिले में दुधखेडा, परडी और कंझारा में क्रमशः 60 मेगावाट, 30 मेगावाट और 40 मेगावाट कुल 130 मेगावाट और वाशिम-1 परियोजना के तहत बाभूलगांव में 20 मेगावाट मौजे सायखेडा में 20 मेगावाट, वाशिम-2 परियोजना के तहत चंद्रपुर के कचराला में 145 मेगावाट और यवमताल के मंगलादेवी, पिंपरी इजारा और मालखेड में प्रत्येक 25 कुल 390 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना लगाई जाएगी। प्रस्तावित 390 मेगावाट क्षमता की सौर परियोजना के लिए खुद के आंशिक पूंजी के अलावा 1564 करोड़ 22 लाख रुपए खर्च के लिए जर्मनी के केएफडब्लू बैंक से 0.05 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से कर्ज लेने को मंजूरी दी गई है। इस कर्ज के अतिरिक्त आंशिक पूजी के रूप में 364 करोड़ 18 लाख रुपए की निधि अंतर्गत स्त्रोत अथवा वित्तिय संस्थाओं से कर्ज के द्वारा जुटाने को स्वीकृति दी गई है। 
 

खबरें और भी हैं...