comScore

गरबा खेलने जा रही महिला के गले से मंगलसूत्र छीना , आरोपी स्नैचर सीसीटीवी कैमरे में कैद

गरबा खेलने जा रही महिला के गले से मंगलसूत्र छीना , आरोपी स्नैचर सीसीटीवी कैमरे में कैद

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  लकड़गंज थानांतर्गत चलते वाहन से महिला का मंगलसूत्र छीन लिया। प्रकरण में महिला बाल-बाल बची। आरोपी तीन स्नैचरों के खिलाफ देर रात लकड़गंज थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। सीसीटीवी कैमरे की मदद से आरोपी स्नैचरों की खोजबीन जारी है।
जानकारी के अनुसार नीलम दिलीप शाहू (31) शांति नगर निवासी है। उसके पति की बर्डी में कपड़े की दुकान है। रविवार की रात करीब सवा आठ बजे के दौरान नीलम अपनी ननद के साथ दोपहिया वाहन (एमएच 31 सीवाई 0533) पर मानेवाड़ा में गरबा खेलने जा रही थी। बीच रास्ते में सुनील हॉटेल चौक से टेलीफोन एक्सजेंच चौक के बीच में पीछे से दोपहिया वाहन पर तीन स्नैचरों में से पीछे बैठे आरोपी ने चलते वाहन पर झटका मारकर नीलम के गले से 38 हजार रुपए कीमती का मंगलसूत्र छीन लिया। प्रकरण से हड़कंप मचा रहा। इस बीच घटना का पता चलते ही संबंधित थाने के उपनिरीक्षक राऊत सह दल बल मौके पर पहुंचे। परिसर के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया है, जिससे प्रकरण को अंजाम देते हुए आरोपी स्नैचर कैद हुए हैंं। जिससे आरोपियों को जल्द पकड़ने का दावा किया गया है, जांच जारी है।

संस्था से मूक बधिर विद्यार्थी गायब, लापरवाही उजागर
 संस्था से दसवी कक्षा का मूक बधिर विद्यार्थी संदिग्ध स्थिति में गायब हो गया। इससे संस्था प्रबंधन में हड़कंप मचा हुआ है। खोजबीन के बाद भी विद्यार्थी का पता नही चलने से मामला प्रताप नगर थाने पहुंचा। विद्यार्थी की आयु कम होने से हाई कोर्ट के दिशा निर्देशों के तहत प्रकरण को अपहरण की धारा के तहत दर्ज किया गया है। प्रताप नगर क्षेत्र में शासकीय अपंग बाल विकास गृह मूक बधिर स्कूल है। इस स्कूल में जून 2019 से गोदिंया निवासी परीक्षित परमानंद मेश्राम 26 वर्ष नामक मूक बधिर विद्यार्थी निवास और अध्ययनरत है। वह कक्षा दसवी में है। रविवार को अवकाश होने से सभी विद्यार्थी संस्था में ही थे। सुबह करीब 7 बजे संस्था की केअर टेकर मंगला नासरे जब दूध खरीदने गई ,तभी परीक्षित नजर बचाकर वहां से भाग गया। बताया जाता है कि संस्था में लगभग 30 विद्यार्थी दिव्यांग हैं। उनमें से पांच विद्यार्थी मूक बधिर है। जिसमें परीक्षित भी है। इस बीच परीक्षित के गायब होने से केअर टेकर मंगला नासरे समेत संस्था के अन्य अधिकारी और कर्मचारियों ने रेलवे स्टेशन,बस स्टेशन पर दिन भर उसकी खोजबीन की। इसके अलावा दुर्गा उत्सव के कई पंडालों की खाक भी छानी गई। परीक्षित के गायब होने से यह कयास लगाया जा रहा था कि कई वह दुर्गा उत्सव वगैरे देखने गया होंगा,लेकिन वहां पर उसका कोई सुराग नही मिला है। जिससे संस्था प्रबंधन में हड़कंप मचा हुआ था। इस बीच परीक्षित की आयु कम होने से होईकोर्ट के दिशा निर्देशों के तहत प्रकरण को अपहरण की धारा में दर्ज किया गया है। जांच जारी है।  

कमेंट करें
mUMJb