दैनिक भास्कर हिंदी: Vaccine : शरद पवार सहित इन नेताओं ने लगवाया टीका, चंद्रपुर- भंडारा और बीड में तकनीकी खामी ने डाली अड़चन

March 1st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। एनसीपी चीफ शरद पवार ने सोमवार को कोरोना वैक्सीन जे.जे. अस्पताल में लगवाई। इस मौके पर उनके साथ बेटी और सांसद सुप्रिया सुले मौजूद थीं। चेक अप करने के बाद पवार को सीरम इंस्टिट्यूट का कोविशील्ड का टीका लगाया गया। उनके अलावा सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिल्ली के एम्स में वैक्सीन ली थी। पवार कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले महाराष्ट्र के पहले राजनेता बन गए हैं।

नागपुर में 544 बुजुर्गों और 45 साल के ऊपर के 38 लोगों ने लिया टीका

उधर नागपुर में तीसरे चरण में 60 साल से ऊपर वाले लोगों को वैक्सीन देने की शुरुआत सोमवार से हो गई है। इसमें 60 वर्ष से ज्यादा के बुजुर्गों के साथ 45 साल से 59 साल तक को भी वैक्सीन दी गई। 45 साल से ऊपर उन ही लोगों को वैक्सीन दी गई जिन्हें पहले से कोई बीमारी हो। जिले में सोमवार को पहले दिन 45 साल से ऊपर वाले 38 और 60 वर्ष से ऊपर 544 लोगों को टीका लगाया गया। सोमवार को शहर के 11 केंद्रों पर वैक्सीनेशन किया गया। सभी केंद्र मनपा के थे। किसी निजी अस्पताल में वैक्सीनेशन नहीं किया गया। 11 केंद्रों में 1283 में से 1045 लोगाें को टीका दिया गया। इसमें से 45 साल के ऊपर के 23 और 60 साल से ऊपर के 417 लोगों ने टीका लिया। इसके साथ ही 336 स्वास्थकर्मी और 125 फ्रंटलाइन वर्कर ने पहला डोज लिया। 144 स्वास्थकर्मियों को दूसरा डोज दिया गया। इस तरह शहर में कुल 81.44 प्रतिशत टीकाकरण किया गया।

ग्रामीण में 55.74 प्रतिशत

ग्रामीण क्षेत्र में 12 केंद्रों पर टीकाकरण किया गया। इन केंद्रों पर 1200 में से 657 लोगों को टीका लगाया गया। इसमें से 45 वर्ष के ऊपर के 15 और 60 वर्ष के ऊपर के 127 लोगों को टीका लगाया गया। इसके साथ ही 82 स्वास्थकर्मी और 176 फ्रंटलाइन वर्कर ने पहला डोज लिया। 257 स्वास्थकर्मियों ने दूसरा डोज लिया। इस तरह कुल 54.75 प्रतिशत टीकाकरण किया गय

विदर्भ के सातों जिलों में कोरोना टीकाकरण 

विदर्भ के सातों जिलों में सोमवार से वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना से सुरक्षित रखने टीकाकरण अभियान आरंभ हो गया।

अमरावती जिले के 13 केंद्रों में तीसरे चरण के पहले दिन टीकाकरण की प्रक्रिया पूरी की गई। जिसमें सबसे पहले 65 वर्षीय विनोद वितोंडे को टीका लगाया गया।

वर्धा में 74 नागरिकों ने टीकाकरण में हिस्सा लिया। सांसद रामदास तड़स ने भी कोरोना का टीका लगवाया।

यवतमाल जिले की 16 तहसीलों मे मारेगांव और आर्णी को छोड़कर सभी जगह टीकाकरण आरंभ हो गया। 

चंद्रपुर जिले में सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी के कारण स्वास्थ विभाग को कहां कितने लोगों ने टीके लगवाए इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं हो पायी।

गड़चिरोली जिले में 16 बुजुर्गों ने टीका लगवाया। 14 जगह पर सरकारी अस्पताल में टीकाकरण शुरू हुआ। कुछ निजी अस्पतालों में भी यह व्यवस्था की गई है। 

गोंदिया जिले में टीकाकरण के तीसरे चरण का शुभारंभ शासकीय मेडिकल कॉलेज से हुआ। पहले दिन निजी चिकित्सालयों के टीकाकरण केंद्र शुरू नहीं हो सके। पूर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने स्वयं को टीका लगवाकर इस मुहीम का शुभारंभ किया।

भंडारा जिले में पहले ही दिन एप में आयी तकनीकी गड़बड़ी के कारण टीकाकरण अभियान धीमी गति से जारी रहा।  

बीड में तकनीकी कारणों से टीकाकरण दोपहर डेढ़ बजे बाद शुरू हुआ

बीड में कोविड पोर्टल में तकनीकी समस्या के कारण ऑनलाइन पंजीकरण के लिए कठिनाइयां आईं। जिसे दूर करने के तुरंत बाद, वरिष्ठ नागरिकों और पुरानी बीमारी वाले व्यक्तियों को टीका लगाया जाएगा। दोपहर बाद जिले में 269 लोगो को टीका लगाया गया है। इनमें स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंटलाइन कार्यकर्ता और वरिष्ठ नागरिक शामिल हैंं।

खबरें और भी हैं...