दैनिक भास्कर हिंदी: इसरो का वैज्ञानिक बताकर की शादी, हुड़केश्वर में हुई चोरी का पर्दाफाश

August 24th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। इसरो के फर्जी वैज्ञानिक के जाल में फंसी गोंदिया की युवती को लाखों रुपए की चपत लगी, जबकि नागपुर और मुंबई की युवती उसके झांसे में आने से बाल-बाल बच गईं। मामला प्रताप नगर थाने में जुड़ा है। प्रकरण दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी सचिन भीमराव बागडे, कुकड़े ले-आउट, नागपुर निवासी है। अभियांत्रिकी में चार-पांच बार फेल होने के बाद सचिन के दिमाग में यह आइडिया आया। उसके बाद वर्ष 2015 में सचिन शादी डॉट कॉम पर खुद की फर्जी प्रोफाइल बनाई। प्राेफाइल में खुद को उच्च शिक्षित बताते हुए सचिन ने स्वयं को इसरो का वैज्ञानिक बताया, जिससे पुणे निवासी युवती ने सचिन सेे संपर्क किया। झांसे में आई युवती को फांसकर सचिन ने उससे शादी की। शादी के छह महीने बाद ही उसे सचिन के फर्जीवाड़े का पता चल गया, लेकिन इसके पहले उसने सेना की कैंटीन से एसी दिलाने का झांसा देकर उससे पांच हजार रुपए ऐंठ चुका था। पड़ताल करने पर पता चला कि, सचिन ने कोई एसी बुक नहीं किया था। उसी दौरान युवती के भाई को मुंबई में म्हाड़ा का फ्लैट दिलाने का झांसा देकर उसे भी 11 लाख रुपए की चपत लगा चुका था। दोनों भाई-बहन ने सचिन के खिलाफ अलग-अलग प्रकरण दर्ज कराए। बताया जाता है कि, सचिन पुणे में भी गिरफ्तार हो चुका था। इसके बाद सचिन ने उसी प्रोफाइल के जरिए नागपुर में निजी स्कूल में कार्यरत शिक्षिका को फांस लिया। मुंबई में भी एक युवती को पसंद किया। इससे आगे सचिन बढ़ता, इसके पहले ही पुलिस ने कुकड़े ले आउट में उसे गिरफ्तार कर लिया। मामले में और भी गंभीर खुलासे होने की संभावना जताई जा रही है।युवती की सतर्कता से सचिन पुलिस के जाल में फंस गया है। कुछ पीड़ितों ने बदनामी होने के डर से शिकायत करने से मना कर दिया। प्रकरण दर्ज किया है, अनिल ब्राम्हकर मामले की जांच कर रहे हैं।

हथियार, बाइक बरामद, हत्याकांड में गिरफ्तार

उधर कामठी के समता नगर में मंगलवार को 19 वर्षीय सौरभ सिद्धार्थ सोमकुंवर हत्याकांड में गिरफ्तार दो आरोपियों को  कामठी के नया थाना पुलिस ने न्यायालय में पेश करने के बाद उन्हें  6 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। इधर पुलिस ने हत्याकांड में प्रयुक्त मोटरसाइकिल और दो चाकूनुमा हथियार बरामद किए हैं। बता दें कि, 20 अगस्त को दोपहर करीब 2 से 2.30 बजे के बीच कामठी-कन्हान रोड स्थित समता नगर परिसर में सौरभ सोमकुंवर की चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद आस-पास के सीसीटीवी फुटेज की सहायता से डीबी पथक के पीएसआई घोंगडे, हे.कां. ज्ञानचंद दुबे, दिलीप कुमरे, मंगेश गिरि, वेदप्रकाश यादव, प्रमोद वाघ और ललित झाड़े ने घटना के दो घंटे के भीतर आरोपियोंे को कामठी-नागपुर रोड स्थित उप्पलवाड़ी परिसर से गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तार आरोपियों में रोशन रमेश सकतेल (34) और राजू छोटेलाल सकतेल (45), दोनों सैलाब नगर निवासी का समावेश है। पुलिस ने बुधवार को न्यायालय में पेश कर दोनों आरोपियों का 27 अगस्त तक पीसीआर प्राप्त किया है। पूछताछ के बाद आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने शुक्रवार को नाका नं.-2 से एक मोटरसाइकिल और उप्पलवाड़ी परिसर से मिट्टी में छुपाकर रखे चाकूनुमा दो हथियार बरामद किए हैं।पुलिस का मानना है कि, इसमें दो आरोपी और शामिल हैं, जिन्हें जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

हुड़केश्वर में हुई चोरी का पर्दाफाश, अंतरराज्यीय चोरों की जेल में हुई थी मित्रता

वहीं अंतरराज्यीय स्तर के दो चोर पुलिस के हाथ लगे हैं। जिससे हुड़केश्वर थानांतर्गत हुई चोरी का पर्दाफाश हो गया। पीसीआर की अवधी खत्म होने से गुरुवार को उन्हें जेल भेज दिया गया है।आरोपी सय्यद शहावर अली, मध्यप्रदेश, भोपाल निवासी है और किशोर प्रह्लादसिंह चव्हान वह भी मध्यप्रदेश सिवनी का निवासी है। गश्त के दौरान 11 अगस्त को पुलिस को देखकर सैय्यद भागने लगा था। पीछा कर पुलिस ने उसे दबोच लिया। दोनों शातिर चोर हैं। चोरी के एक मामले में दोनों नागपुर जेल में बंद थे। उस वक्त दोनों की मुलाकात हुई है। उसके बाद अंतरराज्यीय स्तर पर चोरी की घटनाओं को अंजाम देने लगे। घटित प्रकरण ओंकार नगर में नंदकुमार माताघरे के घर में 12 जुलाई 2019 को चोरी करने की बात स्वीकार की है। घटना के दौरान नंदकुमार पुत्र के घर मुंबई गए थे। 20 हजार रुपए का माल उनके घर से चोरी किया गया था। घटना के लगभग एक महीने बाद 11 अगस्त को पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पीसीआर के दौरान उक्त घटना के अलावा पूर्व में केरल और मध्यप्रदेश में भी चोरी की घटनाओं को अंजाम दिए जाने की बात उन्होंने बताई। साढ़े दस हजार रुपए का चोरी का माल उनसे जब्त किया गया है। गुरुवार को पीसीआर की अवधी खत्म होने से उन्हें अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है।