दैनिक भास्कर हिंदी: माशूका को कपड़े गिफ्ट करने बुटिक में की चोरी -पुलिस ने किया गिरफ्तार

September 28th, 2019

डिजिटल डेस्क शहडोल । माशूका को मंहगे कपड़े गिफ्ट करने के लिए आशिक ने बुटिक दुकान में चोरी कर लाखों के कपड़े उड़ा दिए। इसके बाद माशूका के साथ भाग जाने की प्लानिंग बनाई, लेकिन पुलिस ने धर दबोचा। इस प्रकार नगर के मेन रोड पर हुई चोरी की वारदात को कोतवाली पुलिस 24 घंटे के भीतर सुलझा लिया।  चोरी की यह वारदात एचपी गैस आफिस के सामने स्थित रूपसी बुटिक दुकान में हुई थी। 
ताला तोड़कर की थी चोरी
संचालक नीलम जायसवाल ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई थी कि 24-25 सितंबर की दरमियानी रात ताला तोड़कर अज्ञात चोरों ने चार लाख रुपये के लेडीज कपड़े, लहंगा, चुनरी, गाउन, सलवार सूट आदि पार कर दिया है। कोतावली में धारा 457, 380 ताहि का प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुुरु की। संदेह के आधार पर आविद अली 26 वर्ष निवासी पाण्डवनगर तथा अनिल चौधरी 19 वर्ष निवासी पुराना बस स्टैण्ड के पास को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, जिन्होंने चोरी करना कबूल कर लिया। उनके पास से चोरी के कपड़े बरामद कर लिया गए। आरोपियों को पकडऩे में टीआई रावेंद्र द्विवेदी के मार्गदर्शन में एएसआई दिलीप सिंह, राकेश सिंह बागरी, प्रधान आरक्षक संतोष कोल, आरक्षक मायाराम, गिरीश मिश्रा, हीरालाल, हरेंद्र, महिला आरक्षक बसंता सिंह की भूमिका रही। 
चोरी का प्रकरण दर्ज करने के बाद पुलिस ने सीसीटीवी के फुटेज खंगाले। जिसमें कुछ चेहरे संदिग्ध मिले। इसी आधार पर कुछ निगरानी शुदा बदमाशों को हिरासत में लिया, जिनमें आविद अली भी था। पहले तो उसने आनाकानी की, लेकिन जब सख्ती से पूछताछ हुई तो उसने अनिल के साथ मिलकर चोरी करना कबूल कर लिया। पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि आविद की पत्नी कुछ वर्ष पहले छोड़कर चली गई थी। इसके बाद उसने एक युवती से रिश्ता बढ़ाया। उसने उससे वादा किया था कि उसे मंहगा से मंहगा कपड़ा गिफ्ट करेगा। उसने चोरी की योजना बनाई। इसमें अनिल को मिला लिया। इसके बाद रात के समय बुटिक पर हाथ साफ किया। पुलिस ने बताया कि घटना के बाद तीनों शहर से भागने की फिराक में थे, लेकिन मुखबिर की सूचना पर भागने के पहले पकड़ लिया।