दैनिक भास्कर हिंदी: मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते बोले रावण नहीं हैं आदिवासियों के आराध्य

October 30th, 2019

 
डिजिटल डेस्क सिवनी। घंसौर में राष्ट्रपिता गांधी जी की डेढ़ सौ वीं जंयती से जुड़े एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने गोडवाना पार्टी पर तीखा हमला बोला है। कुलस्ते यहां ब्राम्हण समाज के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। केंद्रीय मंत्री ने समाज के लिए 11 लाख रुपए देने की घोषणा की है।
षड्यंत्र पूर्वक तोड़ा जा रहा है समाज-
कुलस्ते ने गोंडवाना गणतंत्र पार्टी पर सोशल मीडिया के जरिए दुष्प्रचार कर अपने ही समाज को तोडऩे का आरोप लगाया। कुलस्ते ने कहा कि वे खुद भी आदिवासी समाज से आते हैं। हर साल दशहरा से पहले सोशल मीडिया में बिना किसी जानकारी के दुरुपयोग करते हैं। इन बातों का कोई तथ्य नहीं है। रावण समाज के आराध्य नहीं हैं। वे हमारे देवी देवता नहीं है। यह दुष्प्रचार षड्यंत्र पूर्वक किया जा रहा है। उन्होंने सामान्य वर्ग के लिए दस फीसदी आरक्षण की वकालत की। उन्होंने ब्राम्हण समाज को पूजे जाने की परंपरा का पालन किए जाने की नसीहत दी।
जनाधार को तोडऩे कोशिश-
उन्होंने कहा कि गोंडवाना पार्टी के खिलाफ उन्होंने जितनी लड़ाई लड़ी है उतनी किसी ने नहीं की है।  दशहरा के पहले घंसौर में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के सदस्यों ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर दुर्गा प्रतिमा में महिषासुर आदि न बनाए जाने की नसीहत देने की मांग की थी। इसके पहले संगठन रावण को आराध्य बताते हुए उसका पुतला न जलाने की मांग कर चुका है। घंसौर क्षेत्र में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के बढ़ते जनाधार को तोडऩे की कोशिश में कुलस्ते का यह बयान देखा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...