दैनिक भास्कर हिंदी: गायब हुई नाबालिग, 12 घंटे बाद मिली वृद्धा के झोपड़े में , मामला संदिग्ध

June 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। अमरवाड़ा के वार्ड क्रमांक 4 से रविवार की शाम एक 9 साल की नाबालिग बच्ची गायब हो गई। इस घटना की शिकायत रात 9 बजे अमरवाड़ा थाने में की गई। शिकायत मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसपी मनोज राय ने तत्काल एडिश्नल एसपी शशांक गर्ग को तत्काल पांढुर्ना रवाना कर एसडीओपी अमरवाड़ा संतोष डेहरिया के मार्गदर्शन में अमरवाड़ा, हर्रई और बटकाखापा थाना प्रभारियों के साथ थानों की पुलिस सर्चिंग में लगा दी गई। पूरी रात पुलिस ने एडिशनल एसपी के नेतृत्व में आसपास के ग्रामों और सिवनी, नरसिंहपुर, बैतूल और नागपुर पुलिस को सूचना भेजी गई। इस नाबालिग बच्ची की तलाश में लगभग 200 पुलिस कर्मी तैनात किए गए, जिन्होंने पूरे क्षेत्र में नाकाबंदी कर एक-एक वाहन की जांच की और आसपास क्षेत्र में पतासाजी की। आखिरकार पुलिस की मेहनत लगभग 10 घंटे बाद सुबह 7 बजे रंग लाई। जब पुलिस को सूचना मिली कि इस हुलिए की एक बच्ची गरमेटा पहाड़ी के पास देखी गई है। एसपी ने तत्काल क्षेत्र में टीम सक्रिय की और लगभग 10 बजे पुलिस ने बच्ची को ग्राम खमरा के एक झोपड़े से बरामद किया है। 

पुलिस को खबर न करना संदिग्ध 

पुलिस ने बच्ची को ग्राम खमरा निवासी संध्या उईके के यहां से बरामद किया है। संध्या उईके ने पुलिस को बताया कि बच्ची उसे बाजार में रोती हुई मिली थी, जिसे उसने घर लाकर भोजन कराया और आसरा दिया है, लेकिन महिला का पुलिस या अन्य किसी को इस संबंध में सूचित न करना संदेहास्पद बना हुआ है। बच्ची के परिजन भी इस मामले में संदेह व्यक्त कर रहे हैं। एसपी मनोज राय का कहना है कि मामला गंभीर है, इसकी जांच की जा रही है।

पुलिस टीम को 10 हजार रुपए का इनाम 

नाबालिग बच्ची के गायब होने के बाद पुलिस सूचना मिलते ही अमरवाड़ा एसडीओपी के नेतृत्व में पुलिस तत्काल एक्टिव हो गई। अमरवाड़ा थाना प्रभारी अरविंद दुबे, हर्रई थाना प्रभारी मुकेश खंपरिया सहित तीनों थानों की पुलिस ने पूरी रात क्षेत्र को छावनी बना दिया और बच्ची को महज 12 घंटे में बरामद भी कर लिया। पुलिस टीम के इस प्रयास पर एसपी ने उन्हें 10 हजार रुपए के नकद इनाम से पुरस्कृत किया है। 

खबरें और भी हैं...