दैनिक भास्कर हिंदी: कमलनाथ के लिए इस विधायक ने की सीट छोड़ने की पेशकश, इस्तीफा लेकर भोपाल पहुंचे

February 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। मप्र विधानसभा के बजट सत्र की शुरूआत सोमवार से हो रही है। दो दिन चलने वाले बजट सत्र के समापन के साथ ही छिंदवाड़ा विधायक दीपक सक्सेना अपना इस्तीफा सौंप देंगे। इस्तीफे के साथ ही वे मुख्यमंत्री कमलनाथ को छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का न्यौता देंगे। रविवार रात को दीपक सक्सेना बजट सत्र में शामिल होने भोपाल रवाना हो गए हैं। सूत्रों के मुताबिक वे अपना इस्तीफा साथ ले गए हैं।

कमलनाथ के सबसे करीबी
कांग्रेस खेमे में जिले में नंबर दो की छवि रखने वाले दीपक सक्सेना की गिनती प्रदेश के कद्दावर नेता के साथ ही कमलनाथ के सबसे करीबी के रूप में होती है। सक्सेना छिंदवाड़ा से चौथी बार विधायक बने हैं। वे दिग्विजय सरकार में वे दो बार प्रदेश शासन में केबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। वरिष्ठता के नाते उन्हें इस विधानसभा का प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था।

अटकलों पर लगेगा विराम
कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनते ही उनके लिए सीट को लेकर अटकलें शुरू हो गई थीं। सौंसर और छिंदवाड़ा में से किसी एक सीट से चुनाव लड़ने की बातें हो रही थीं। दोनों ही क्षेत्रों के विधायकों दीपक सक्सेना और विजय चौरे ने सीटें छोड़ने की पेशकश की थी। अब दीपक सक्सेना इस्तीफे के साथ ही यह तय हो जाएगा कि कमलनाथ छिंदवाड़ा सीट से ही उपचुनाव लड़ेंगे।

नकुल के बयान से शुरू हो गया था सौंसर का जिक्र
पिछले दिनों तीन दिनी प्रवास के दौरान परासिया के खिरसाडोह में हुए कार्यकर्ता सम्मेलन में नकुल के बयान से कमलनाथ के सौंसर से लड़ने का जिक्र होने लगा था। सम्मेलन में नकुल ने आने वाले चुनाव को ऐतिहासिक बताते हुए कहा था में पिता अपने पुत्र के लिए और पुत्र, पिता के लिए वोट करेगा।

नकुल को प्रत्याशी मान चुनाव की तैयारियों में जुटे कार्यकर्ता
इधर लोकसभा के लिए जिला कांग्रेस ने नकुलनाथ को प्रत्याशी नाम प्रस्तावित किया है। सभी विधायक, तमाम पदाधिकारी और कार्यकर्ता उन्हें प्रत्याशी बनाए जाने की उम्मीदों के साथ चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। जिले भर में ब्लॉक, क्षेत्रीय कमेटियों और जोन व वार्ड स्तर पर बैठकें व तैयारी शुरू कर दी है।