• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Nagpur Municipal Corporation - Stationery scam of 6 crores, 225 page report recommended for thorough investigation

 नागपुर मनपा: 6 करोड़ का हुआ स्टेशनरी घोटाला, 225 पेज की रिपोर्ट पेश गहन जांच की सिफारिश

February 18th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मनपा में 6 करोड़ के आसपास स्टेशनरी घोटाला होने के निष्कर्ष पर जांच समिति पहुंची है। घोटाले की व्याप्ति बड़ी रहने से इसकी गहन जांच करने की सिफारिश की गई। जांच समिति ने गुरुवार को प्राथमिक जांच रिपोर्ट बंद लिफाफे में महापौर को सौंप दी। स्वास्थ्य विभाग में 67 लाख का घोटाला उजागर होने पर सदन की मंजूरी से सत्तापक्ष नेता अविनाश ठाकरे की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित की गई थी। महापौर को सौंपी गई रिपोर्ट में विविध विभागों के विभाग प्रमुखों समेत अधीनस्थ कर्मचारियों की लिप्तता बताई गई है। स्टेशनरी घोटाले से जुड़े पांच विभागों की जांच की गई, जिसमें स्वास्थ्य विभाग, ग्रंथालय विभाग, शिक्षण विभाग, जन्म-मृत्यु विभाग और सामान्य प्रशासन विभाग का समावेश है।

सदन की जांच समिति में 5 नगरसेवक हैं। सदन का कार्यकाल 4 मार्च को समाप्त होगा। उसके बाद समिति को अधिकार नहीं रहेगा, इसलिए जल्दबाजी में प्राथमिक जांच पूरी कर महापौर को रिपोर्ट पेश की गई। जांच समिति अध्यक्ष अविनाश ठाकरे ने कहा कि घोटाले की व्याप्ति बड़ी रहने के कारण जांच के लिए ज्यादा समय की आवश्कता है। रिपोर्ट सदन के पटल पर रखकर दोषी के िखलाफ कार्रवाई करने तथा आगे की कार्रवाई तय करने सदन से निर्णय लेने की सिफारिश की गई है। इस अवसर पर समिति सदस्य विरोधी पक्ष नेता तानाजी वनवे, नगरसेवक संदीप जाधव, एड. संजय बालपांडे, वैशाली नारनवरे, सेवानिवृत्त न्यायाधीश एस. पी. मुले, उपायुक्त निर्भय जैन, निगम सचिव डॉ. रंजना लाडे उपस्थित थे।

घेरे में दर्जन भर अधिकारी

घोटाले की जाल में वरिष्ठ अधिकारी समेत 10 से 12 अधिकारी-कर्मचारियों के फंसे होने की जानकारी मिली है। महापौर ने कहा कि रिपोर्ट सदन में पटल पर रखकर संबंधितों के िखलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

सवा दो सौ पेज की रिपोर्ट

जांच समिति की 14 बैठकें हुई। संदिग्ध विभागों के अधिकारी तथा कर्मचारियों की सुनवाई कर उनका पक्ष दर्ज किया गया। 17 पेज के निष्कर्ष के साथ अधिकारी, कर्मचारियों के बयान की लगभग सवा दो सौ पेज की रिपोर्ट तैयार की गई है।