दैनिक भास्कर हिंदी: एलआईटी : सालों से खाली पड़े पदों पर होगी शिक्षकों की नियुक्ति

January 28th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने अपने लक्ष्मीनारायण इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एलआईटी) में 17 शिक्षकों की नियुक्ति की घोषणा की है। यूनिवर्सिटी ने इन पदों पर नियुक्ति के लिए आवेदन मंगाए हैं। एलआईटी में 9 प्रोफेसर, 3 एसोसिएट प्रोफेसर और 7 असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति की जाएगी। बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ के आदेश के बाद लंबे समय से खाली पड़े पदों पर आखिरकार नियुक्ति होने जा रही है। कोर्ट ने 17 जनवरी को खाली पड़े इन पदों पर दो माह के भीतर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने के आदेश जारी किए थे। एलआईटी में टेक्नोलॉजी की 6, एम.टेक की 4 और केमिकल की 7 शाखाएं हैं। संस्थान में 680 विद्यार्थियों की प्रवेश क्षमता है, लेकिन वर्तमान में  संस्था में बड़ी संख्या में पद रिक्त होने का बुरा प्रभाव संस्थान की  शैक्षणिक और प्रशासनिक कार्यप्रणाली पर पड़ रहा था। वहीं एलआईटी को डीम्ड विश्वविद्यालय का दर्जा दिलाने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के पास प्रस्ताव के पास भेजा गया है। वही, राज्य सरकार ने भी इसके लिए 50  करोड़ रुपए जारी करने की तैयारी की है। ऐसे में इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर पदभर्ती के कारण ब्रेक लगा हुआ था। 

कई वर्षों से हो रहा था प्रयास 

उल्लेखनीय है कि संस्थान पर बीते कई वर्षों रिक्त शिक्षक पदों का संकट छाया है। जो संस्थान को ऑटोनॉमी या फिर डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा दिलाने में रोड़ा बने हुए है। बीते दिनों एलआईटी पूर्व छात्र संगठन सदस्य प्रसन्ना सोहडे ने इस दिशा में हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी। इस याचिका पर हाईकोर्ट ने नागपुर विवि और राज्य सरकार को आपस में पदभर्ती पर फैसला लेने का आदेश जारी किया था, परंतु सरकार ने केवल 17 पदों पर नियुक्ति को मंजूरी दी है। अभी भी संस्थान में 2 प्राध्यापक, 3 सहयोगी प्राध्यापक और 8 सहायक प्राध्यापक पद मिला कर कुल 13 पद रिक्त रहेंगे। 
 

खबरें और भी हैं...