दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : रविवार को 7201 नए पॉजिटिव, मेडिकल में 780 बेड फुल, 120 बेड और बढ़ाएंगे

April 11th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। जिले में संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में जिले में 26007 नमूनों की जांच हुई, जिसमें रविवार को 7201 नए मरीज सामने आए हैं। साथ ही 63 लोगों की मौत हुई है। 3240 मरीज डिस्चार्ज किए गए। कुल संक्रमित 278556, कुल मृतक 5769 और कुल डिस्चार्ज 217313 हो गए हैं।  

जिले में बेड की भी कमी हो गई है। वेंटिलेटर पूरी तरह भर चुके हैं। शहर के दो बड़े अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल (मेडिकल) और इंदिरा गांधी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल (मेयो) में पूरी तरह बेड भर चुके हैं, जबकि एम्स में बेड खाली हैं। शनिवार शाम की स्थिति अनुसार एम्स में कुल 160 बेड हैं। इसमें से 72 बेड भरे हैं। यानी 88 बेड खाली है। इन 160 में से करीब 5 वेंटिलेटर हैं। जबकि 25 ऑक्सीजन बेड की सुविधा है। इसी तहर मेडिकल अस्पताल में 780 बेड उपलब्ध हैं और सभी फुल हैं। आगे दो दिन में 120 बेड और बढ़ाने की जानकारी सूत्रों ने दी है। मेयो अस्पताल में 535 बेड हैं। इसके अतिरिक्त बेड हैं, लेकिन उनके उपयोग के लिए पर्याप्त मेडिकल स्टाफ नहीं है।

20634 लोगों ने लगाई वैक्सीन

शनिवार को जिले में 20634 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीन का स्टॉक कम होने के कारण शहर व ग्रामीण क्षेत्रों के कुछ केंद्र कम किए गए हैं। शनिवार को शहर में 16451 लाेगों ने वैक्सीन लगाई। इनमें से 14975 लोगों को पहला डोज दिया गया है। वहीं 1476 लोगों को दूसरा डोज दिया गया। ग्रामीण क्षेत्र में 4183 लोगों ने वैक्सीन लगाई है। इनमें पहला डोज लेने वाले 3980 और दूसरा डोज लेने वालों में 203 लोगों का समावेश है। 

एक सप्ताह में 6055 लोगों को दी वैक्सीन 

पीएचसी गुमथी के तहत 9 नर्सेस द्वारा कोराडी, महादुला, बोखारा, गोधनी, लोणखैरी, येरखेड़ा, खसाला, रनाला और भीलगांव में एक सप्ताह में 6055 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। वैक्सीन रोज सुबह 9 से 5 बजे तक लगाई जा रही है। यह काम बहुत तेजी से चल रहा है।

गुमथी पीएचसी में 738 लोगों को दी वैक्सीन

कामठी/कन्हान. तहसील के गुमथी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शनिवार को 719 लोगों को पहला तथा 19 लोगों को दूसरा डोज दिया गया। पहला डोज लेने वालों में 60 साल से अधिक आयु वाले 79, 45 से 59 आयु वाले 436, 102 फील्ड वर्कर तथा 2 हेल्थ वर्करों का समावेश है। वहीं दूसरा डोज लेने वालोें में 45 से 60 आयु वाले 16 और 3 फील्ड वर्करों का समावेश है। गुमथला पीएचसी में 70 लोगों को लगाया टीका : गुमथला पीएचसी में शनिवार को 67 लोगों को पहला तथा 3 लोगों को दूसरा डोज दिया गया। पहला डोज लेने वालोंे में 60 साल से अधिक आयु वाले 22, 45 से 59 आयु वाले 45 लोगों का समावेश है। वहीं दूसरा डोज लेने वालों में 45 से 59 आयु वाले 3 लोगों का समावेश है। इस प्रकार कुल 70 लोगों को वैक्सीन दी गई। 

120 लोगों को लगाई वैक्सीन

कन्हान/कामठी इलाके में बैक्सीनेशन हुआ। कोरोना संक्रमण की रोकथाम व सुरक्षित रहने के लिए वैक्सीन लेना ही सर्वोत्तम उपाय है। वैक्सीन सभी के लिए उपलब्ध हो इसके लिए सरपंच सुनीता चौहान, उपसरपंच परिता इंगोले, मुख्याध्यापक एसआर जुनघरे, सचिव प्रियंका बोरकर, भारतीय भोई विकास मंडल के राष्ट्रीय महासचिव दिलीप मेश्राम ने ग्राम पंचायत द्वारा वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन शुक्रवार को सोनेगांव स्थित जिप शाला में किया गया।  शिविर में 45 साल से अधिक आयु वाले 288 नागरिकांें में से 120 लोगों ने स्वयं होकर शिविर का लाभ लिया। पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी अशोक खाडे के मार्गदर्शन में डोरली पीएचसी के वैद्यकीय अधिकारी डा. अंसारी के नेतृत्व में सोनेगांव में वैक्सीनेशन शिविर आयोजित कर स्वास्थ्य सहायक एसके माजरखेडे, स्वास्थ्य सेवक एसएस गोरे, स्वास्थ्य सेविका भाग्यश्री गेडाम, पीपी अंजनकर, प्रभाग समन्वयक गिरीश गुजरमाले, ओमदेव मेश्राम, चरणदास नारनवरे, विजय गजभिये, संगणक अभय वासनिक आदि ने व्यवस्था संभाली। सोनेगांव की जिला परिषद शाला में आयोजित शिविर का 120 लोगों ने लाभ लिया। शिविर में पारशिवनी पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी अशोक खाडे ने प्रत्यक्ष भेंट देकर जायजा लिया। शिविर के सफलतार्थ अंागनवाड़ी सेविका सुनंदा आमले, आशा वर्कर चंदा वासनिक, पुलिस पाटील कमल वरखडे, गीता लोणारे, गुंडेराव चौहान, किसन मेश्राम, अंकित वरखडे, येश वासनिक, कमला इंगोले, सहायिका आशा महल्ले सहित गांववासियों ने प्रयास किया।
 

नरखेड़ तहसील के टीकाकरण केंद्र बंद

नरखेड़ शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में कुल 17 टीकाकरण केंद्र शुरू किए गए थे। जिसमें शनिवार को टीके की कमी के कारण नरखेड़, भारसिंगी, जामगांव को छोड़ शेष सभी स्थानों के टीकाकरण केंद्र बंद रखने पड़े।

मेडिकल में कोवैक्सीन के सिर्फ 1500 डोज दिए

केंद्र की ओर से राज्य सरकार को कोरोना नियंत्रण के लिए वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है, लेकिन वैक्सीन की कमी के कारण मेडिकल में 36 घंटे वैक्सीनेशन बंद रहा। जिले में अब तक कोवैक्सीन के सबसे अधिक टीके लगाने वाले मेडिकल अस्पताल में सिर्फ 1500 डोज दिए गए। यह डोज सिर्फ दो दिन चलेंगे। इसके बाद यह वैक्सीन खत्म हो जाएगी। नागपुर जिले में काेवैक्सीन की कमी है। इसके कारण पांच केंदों पर वैक्सीनेशन बंद हुआ है। कुछ केंद्रों पर कोविशील्ड वैक्सीन दी जा रही है,  लेकिन मेडिकल में पहला डोज कोवैक्सीन का और दूसरा डोज किसी अन्य वैक्सीन का न हो ऐसी गलती न हो इसलिए कोवैक्सीन की मांग की जा रही है। शुक्रवार को नागपुर में कोवैक्सीन के 11360 डोज पहुंचे। इसमें से महानगरपालिका को 5000 डोज दिए गए। मनपा ने मेडिकल में सिर्फ 1500 डोज दिए। वर्तमान में कोविड के इलाज में सबसे ज्यादा कार्य मेडिकल और मेयो अस्पताल ही कर रहे हैं, फिर भी मेडिकल में वैक्सीन कम दी गई।  खास बात यह है तीन दिन पहले नागपुर के एक बड़े नेता ने प्रभाकर दटके मनपा स्वास्थ्य केंद्र को वैक्सीन देने के आदेश दिए थे। जिसके अनुसार वहां पर पहले 500 और फिर 100 इस तरह 600 डोज दिए थे।
 

खबरें और भी हैं...