दैनिक भास्कर हिंदी: ड्रग्स माफिया आबू के नारकोटिक्स विभाग से भी जुड़े थे तार, डिटेल खंगाल रहा विभाग

February 15th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर के ताजबाग का ड्रग्स माफिया आबू खान से संबंध रखने वालों में सिर्फ क्राइम ब्रांच के अधिकारी, कर्मचारी ही शामिल नहीं हैं, बल्कि शहर पुलिस विभाग के थाने से लेकर नारकोटिक्स विभाग के अधिकारी, कर्मचारी भी आबू से संपर्क में थे। सूत्रों के अनुसार क्राइम ब्रांच ने जब ड्रग्स माफिया आबू उर्फ फिरोज खान के मोबाइल का कॉल डिटेल निकाला था, तब नारकोटिक्स विभाग के कुछ अधिकारियों, कर्मचारियों के मोबाइल नंबर का कॉल डिटेल सामने आने की चर्चा जोरों पर हैं।

सूत्र बताते हैं कि नारकोटिक्स विभाग के कुछ अधिकारियों, कर्मचारियों से इस मामले में पूछताछ की जा सकती है। क्राइम ब्रांच को नारकोटिक्स विभाग के भी आबू से तार जुड़े होने के सबूत मिल हैं। पूछताछ में नए खुलासे होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। पुलिस गोपनीय तरीके से छानबीन कर रही है। पुलिस विभाग की छवि को खराब करने वाले क्राइम ब्रांच के अंतर्गत कार्य करने वाले 8 पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। 

हो सकते हैं कई चेहरे बेनकाब
बता दें कि पांचपावली थानांतर्गत पासपोर्ट धोखाधड़ी प्रकरण को भी ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। इस मामले को लेकर उस समय लंबी साठ-गांठ किए जाने की चर्चाएं होने लगी थीं। इस मामले में हाल ही में निलंबित किए गए 8 पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों में से कुछ लोगों के नाम सामने आए थे। विदेश तक इस प्रकरण की छानबीन करने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम ने हवाई सफर किया था। उस सफर के बाद इस प्रकरण का क्या हुआ। यह पता नहीं चला। कबूतरबाजी प्रकरण से जुड़े इस मामले की गहन छानबीन करने पर कई पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों के चेहरे बेनकाब हो सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि पासपोर्ट धोखाधड़ी प्रकरण में  उस समय जांच करने वाले पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों के बीच पैसे के बंटवारे को लेकर आंतरिक कलह बढ़ गई थी, जिसके चलते कुछ पुलिस अधिकारियों काे संबंधित जगह से हटाकर दूसरी जगह भेज दिया गया था।  

खबरें और भी हैं...