दैनिक भास्कर हिंदी: धगड़ियामाल में सभा लेने पहुंचे सीएम के बेटे नकुल ने बजाया ढोल, थिरके वर्तमान और पूर्व विधायक

April 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। पांढुर्ना विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी बाहुल्य ग्राम धगड़ियामाल में सीएम कमलनाथ के पुत्र व युवा नेता नकुलनाथ खुद को आदिवासी नृतकों के बीच जाने से नहीं रोक पाए। खुद ढोल थामकर जमकर थाप दी। नकुल की ढोल की थाप पर पांढुर्ना विधायक नीलेश उइके और पूर्व विधायक जतन उइके समेत अन्य आदिवासी जमकर नाचे। करीब 10 मिनट तक नकुल श्रीहंस नवयुवक मंडल की प्रस्तुतियों में शामिल रहे।

दरअसल यहां सभा में पहुंचे नकुल के स्वागत में उक्त आदिवासी नृतक दल प्रस्तुति दे रहा था। नकुल भी शामिल हुए तो आदिवासियों की खुशियों का ठिकाना नहीं रहा। विधायक समेत सभी झूम उठे। खासबात यह कि मंडल द्वारा प्रस्तुत नृत्य व गीत में गरीब आदिवासी किसानों का कर्जा माफ  किए जाने पर गांव में खुशी के माहौल का चित्रण किया गया। युवा नेता नकुलनाथ ने मंगलवार को जिले के तीन विकासखंडों के 6 बड़े ग्रामों में जनसभाओं को संबोधित किया। वे बिछुआ के ग्राम किसनपुर व चकारा, मोहखेड़ के ग्राम धगड़ियामाल व देवगढ़ और चौरई के केवलारीसंभा व समसवाड़ा पहुंचे।

नकुल बोले- सावधान रहें, सच्चाई को समझें
सभाओं में नकुल ने भाजपा से सावधान रहने के साथ ही सच्चाई को समझने एवं सच्चाई का साथ देने की बात कही। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में झूठे वादे और खोखले नारे का कहर दिखाई देता है। हर वर्ष 2 करोड़ नौजवानों को रोजगार देने का वादा करने वाली केंद्र की भाजपा सरकार ने युवाओं को झूठे सपने दिखाए और उनकी भावनाओं से खेला है। एक गरीब पिता ने अपना पेट काटकर अपने बेटे को इसलिए इंजीनियर नहीं बनाया कि वह पकौड़े तले।

नकुल ने कहा कि किसी गरीब की भावनाओं से खेलना इंसानियत नहीं है। भाजपा सिर्फ वोट की राजनीति करने के लिए देश के हर गरीब की दीवार पर झूठे नारे टांगती रही। न किसी के अच्छे दिन आए और न ही किसी के खाते में 15 लाख जमा हुए। अच्छे दिन का मजा केवल भाजपा नेताओं ने लिया है।