दैनिक भास्कर हिंदी: नाना पटोले ने कोविड की स्थिति का लिया जायजा, तुमाने ने कहा - अस्पतालों के फायर ऑडिट कराएं

April 11th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में बढ़ते कोविड संक्रमण की स्थिति का कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष नाना पटोले ने जायजा लिया। विधायक व शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास ठाकरे के निवास पर आयोजित बैठक में नाना पटोले ने कहा कि कोरोना संकट पर पूरी तरह मात करना है तो शासन-प्रशासन से ज्यादा जनता का सहयोग आवश्यक है। इसके लिए महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राज्य भर जनजागरण मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया है। कोविड मरीजों को आवश्यक वैद्यकीय सहायता उपलब्ध हो, इसके लिए कोविड सहायता व मदद केंद्र शुरू करने के लिए वार्ड स्तर पर कोविड हेल्प लाइन कमेटी तैयार करें। पटोले ने राज्य में रक्त की कमी को देखते हुए कहा, महात्मा ज्योतिबा फुले जयंती और भारत रत्न डॉ. बाबासाहब आंबेडकर की जयंती अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान कोविड की परिस्थिति में जनसामान्य को मदद करने का संकल्प लिया गया। बैठक में मेडिकल के डीन डॉ. सुधीर गुप्ता, विधायक विकास ठाकरे, विधायक एड. अभिजीत वंजारी, उमाकांत अग्निहोत्री आदि उपस्थित थे। 

जिले में संक्रमण नियंत्रण के लिए जनसहयोग का आह्वान 

जिले में काेरोना संक्रमण नियंत्रण के लिए जनसहयोग का आह्वान किया गया है। राज्य के पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार ने जिला परिषद प्रशासन के अधिकारी व पदाधिकारियों के साथ शनिवार को बैठक में विविध विषयों पर चर्चा की। उन्होंने जिले में जनकल्याण के कार्यों की समीक्षा भी की। बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष रश्मि बर्वे, उपाध्यक्ष मनोहर कुंभारे, मुख्य कार्यपालन अधिकारी योगेश कुंभेजकर व विविध विषय समिति के सभापति थे। जिला परिषद के माध्यम से कोविड केयर सेंटर शुरू करना, टीककरण मुहिम का प्रभावी क्रियान्वयन, नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, वेकोलि व मॉयल के हाॅस्पिटल कोविड सेंटर में रूपांतरण, आवास योजना को लाभार्थी तक पहुंचाना, शबरी आवास योजना, रमाई आवास योजना में आवेदन की सभी त्रुटियां दूर करना, बचत गट के माध्यम से होने वाले ग्रामसंघ कार्यक्रम में स्थानीय जनप्रतिनिधि को निमंत्रण देना, कुक्कुट पालन, मनरेगा अंतर्गत पगडंडी का काम, कुआं दुरुस्ती, गर्मी में जलसंकट, पेयजल व्यवस्था, निर्माण समिति के अंतर्गत अपूर्ण कायों के विषय पर चर्चा की गई।

जिले में सभी अस्पतालों के फायर ऑडिट कराएं : तुमाने

वाड़ी के निजी अस्पताल में आग के मामले को लेकर सांसद कृपाल तुमाने ने कहा है कि सभी अस्पतालों का फायर ऑडिट कराने की आवश्यकता है। उन्होंने मृत व घायल मरीजों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि वाड़ी की घटना की पुनरावृत्ति रोकने के लिए जिले में सभी शासकीय व निजी अस्पताल का ऑडिट कराना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कोविड मरीजों की संख्या बढ़ रही है। अस्पतालों में बेड की कमी है। मरीजों व उनके परिवार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अस्पतालाें की स्थिति सुधारने की आवश्यकता है। फायर नियमों का पालन नहीं करने वाले अस्पतालों के प्रबंधन के विरुद्ध कार्रवाई करने की जरूरत है।

निजी कोविड अस्पतालाें में मनपा ने नियुक्त किए लेखा परीक्षक

निजी कोविड अस्पतालों में मरीजों की लूट हो रही है। इसे रोक लगाने के लिए मनपा लेखा परीक्षक नियुक्त किए गए। मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. ने कोविड का इलाज कर रहे निजी अस्पतालों में 100 लेखा परीक्षक तथा 5 निरीक्षकों की नियुक्ति का आदेश जारी किया। शहर में कोरोना ने कोहराम मचाया है। शहर में कोविड के मरीजों का इलाज करने के लिए बेड कम पड़ रहे हैं। मौके का फायदा उठाकर िनजी अस्पतालों में मरीजों की लूट शुरू हो गई है। अनाप-शनाप बिल वसूल किए जा रहे हैं। निजी अस्पतालों की लूट से आम नागरिकों पर संकट मंडरा रहा है। जान बचाने के लिए मजबूरी में लोग मुंह मांगा बिल भुगतान करने के लिए मजबूर है। मनपा को मरीजों के लूट की शिकायतें मिल रही हैं। इसे रोक लगाने के लिए सभी निजी कोविड अस्पताल में लेखा परीक्षक नियुक्त कर पूर्व लेखा परीक्षण करने के बाद ही बिल भुगतान करने की आयुक्त ने व्यवस्था की है। नागरिकों से किसी भी कोविड अस्पताल में मनपा के लेखा परीक्षक से बिल का लेखा परीक्षण करने के बाद भी बिल भुगतान करने का आह्वान किया है।

जिले में 10 दिन में बढ़े 45 हजार कोरोना मरीज

कोरोना का बढ़ता प्रकोप प्रशासन और आम जनता के लिए मुसीबत बन चुका है। महामारी से लोगों को बचाने के लिए प्रशासन द्वारा की जा रही उपाययोजना कम पड़ने लगी है। नागरिकों की तरफ से प्रशासन को पूरा सहयोग नहीं मिलने से महामारी को रोकने में प्रशासन सफल नहीं हो पा रहा है। पिछले 10 दिन में जिले में 45317 नए मरीज सामने आए हैं। इस दौरान 608 लोगों की मौत हुई है। इनमें शनिवार को पॉजिटिव मिले 5131 मरीज व 65 मृतकों का समावेश है। जिले में फरवरी से कोरोना ने फिर से अपना उग्र रूप दिखाना शुरू किया है। 1 से 10 अप्रैल के बीच 176696 लोगों की जांच की गई है। इनमें से 45317 नए मरीज पाए गए। यानी हर दिन औसतन 4541 मरीज पाए गए हैं। इस दौरान हर दिन औसतन 60 की मौत दर्ज की गई है। 10 दिन में 608 लोगों की मौत हुई है। इस दौरान 32464 लोग स्वस्थ होकर लौटे हैं। शनिवार को जिले में 20666 लोगों की जांच की गई। इनमें से 5131 की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। इनमें शहर के 3445, ग्रामीण के 1680 और जिले के बाहर के 6 का समावेश है। इसके साथ ही कुल मरीजों की संख्या 271355 हो गई है। जिले में शनिवार को 65 लोगों की मौत हुई है। इनमें शहर के 33, ग्रामीण के 26 व जिले के बाहर के 6 लोगों का समावेश है। अब तक कोरोना से कुल 5706 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 2837 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे हैं। इसके साथ ही स्वस्थ होनेवाले मरीजों की कुल संख्या 214073 हो चुकी है। 31 मार्च को जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 39331 थी।

जिले में शहर से अधिक ग्रामीण क्षेत्र में होंगे कोरोना मरीज : बावनकुले

कोविड-19 प्रतिबंधक उपाययोजनाओं के मामले में जिला प्रशासन पर असफल रहने का आरोप लगाते हुए भाजपा के प्रदेश महासचिव चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में स्थिति खराब हो रही है। संक्रमण रोकने के लिए प्रशासन सही नियोजन नहीं कर पाया है। ऐसे में स्थिति यह है कि जल्द ही जिले में शहर से अधिक ग्रामीण क्षेत्र में मरीज पाए जाएंगे। शनिवार को पत्रकार वार्ता में बावनकुले बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में आरटीपीसीआर जांच की समुचित व्यवस्था नहीं है। जांच रिपोर्ट मिलने में 4-5 दिन लग जाते हैं। एेसे में कोरोना पाॅजिटिव मरीज चिन्हित होने तक सुपर स्प्रेडर बनकर विषाणु फैलाते रहते हैं। सब्जी बाजार व अन्य क्षेत्रों में भीड़ भी संक्रमण की वाहक बन रही है। उपचार व्यवस्था नहीं होने से काटोल नरखेड़ क्षेत्र के मरीजों को अमरावती लेकर जाना पड़ रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे चिकित्सकों की भरमार है, जो मरीज का इलाज सामान्य रोगी के तौर पर करते रहते हैं। इन चिकित्सकों के लिए अधिसूचना जारी कर सभी मरीजों के लिए कोरोना जांच अनिवार्य करना चाहिए। जिले में स्वास्थ्य सेवा पर नियोजन समिति व माइन्स फंड की निधि खर्च की जा सकती है। पत्रकार वार्ता में विधायक विकास कुंभारे, विधायक कृष्णा खोपड़े उपस्थित थे।
भीड़ के साथ करेंगे प्रदर्शन 

बावनकुले ने कहा कि पंढरपुर में चुनाव में राकांपा नेता जयंत पाटील व उपमुख्यमंत्री अजित पवार भीड़ जुटा रहे हैं। ऐसा ही रहा तो राज्य भर में काेरोना की स्थिति को लेकर भाजपा भीड़ के साथ सरकार के विरोध में प्रदर्शन करेगी।

बिजली कनेक्शन न काटें

लाॅकडाउन में भी बकाएदारों के बिजली कनेक्शन काटे जा रहे हैं। गर्मी के इस मौसम में कोरोना प्रभावित परिवार पर बिजली संकट दोहरी मार दे रहा है। लिहाजा सरकार से निवेदन है कि कनेक्शन न काटें।

पारशिवनी के कोविड सेंटर का पूर्व ऊर्जा मंत्री बावनकुले ने लिया जायजा

पूर्व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुल ने पारशिवनी तहसील में बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण को देखते हुए पारशिवनी क्षेत्र का दौरा किया। बावनकुले ने पारशिवनी में कोविड सेंटर तथा वैक्सीनेशन सेंटर को भेंट दी। इस अवसर पर तहसील कार्यालय में पूर्व पालकमंत्री बावनकुले ने नायब तहसीलदार सैयाम से भंेट कर तहसील में कोविड का संक्रमण बढ़ने की बात कही तथा कोविड तथा वैक्सीनेशन सेंटर पर आवश्यक साधान सामग्री की पूर्ति शीघ्र करने के लिए उच्च अधिकारियों से बात की। इस अवसर पर किशोर रेतवकर, भाजपा तहसील अध्यक्ष अतुल हजारे, जिप सदस्य व्यंकटेश कारेमोरे, जयराज मेहरकुले, कमलाकर मेंघर, राजेश कड़ू, अशोक कुथे, लीलाधर बर्वे, रामभाऊ दिवटे, रिंकेश चवरे, सौरभ पोटभरे, आकाश वाढणकर, धर्मंेद्र गणवीर आदि उपस्थित थे।

 

खबरें और भी हैं...