अटकलों पर बयान : नकवी की दोटूक- सीएए और धारा 370 की नहीं होगी वापसी

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कृषि कानून की वापसी के बाद नागरिकता कानून (सीएए) और जम्मू कश्मीर में धारा 370 की वापसी की अटकलों को केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने एक सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की आदत होती है कि वे हर मामले में सांप्रदायिकता का तड़का लगाते हैं। सीएसए और धारा 370 को भी कुछ लोगों ने सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की लेकिन इन कानूनों की वापसी का सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने कहा कि सीएए से देश के किसी मुसलमान की नागरिकता नहीं जा रही है बल्कि यह कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों को संरक्षण देने के लिए बनाया गया है। इस देशों के मुसलमान भी पूर्व निर्धारित प्रक्रिया के तहत भारत की नागरिकता हासिल कर सकते हैं। कृषि कानून की वापसी के फैसले पर नकवी ने कहा कि यह सक्षम नेता द्वारा लिया गया लोकतांत्रिक और सशक्त फैसला है जिसे देश और दुनियां ने स्वीकार किया है। 

ईज ऑफ डूइंग हज को सुधारों से मिला बल-नकवी

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने साल 2022 की हज यात्रा से जुड़ी तैयारियों के मद्देनजर गुरूवार को मुंबई स्थित हज हाउस में हज कमेटी ऑफ इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि हज की प्रक्रिया 100 फीसदी ऑनलाइन/डिजिटल किए जाने के बाद ईज ऑफ डूइंग हज को बल मिला है। 1 नवंबर से शुरू हुई आवेदन प्रक्रिया के तहत अब तक 20 हजार से ज्यादा लोगों ने आवेदन कर दिया है। अब तक आए आवेदन में 50 फीसदी आवेदन महिलाओं के हैं और 60 फीसदी आवेदन मोबाइल ऐप के जरिए किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रायवेट टूर ऑपरेटर्स का भी पोर्टल बनाया गया है। इसके अलावा डिजिटल हेल्थ कार्ड, ई मसीहा स्वास्थ्य सुविधा, मक्का मदीना में ठहरने के लिए बिल्डिंग/ट्रांसपोर्ट की जानकारी भारत में ही देने के लिए ई लगेज टैगिंग सुविधा, ईवीजा और हज मोबाइल ऐप के जरिए हज यात्रियों को सुविधा और सुरक्षा सुनिश्चित की जा रही है। 
 

खबरें और भी हैं...