गड़चिरोली: महंगाई के खिलाफ राकांपा का जनाक्रोश आंदोलन, केंन्द्र के खिलाफ महाविकास आघाड़ी करेगी आंदोलन 

October 10th, 2021

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। पेट्रोल, डीजल व घरेलू सिलेंडर के दरवृध्दि के खिलाफ राकांपा  की ओर से शनिवार को राज्यव्यापी जनाक्रोश आंदोलन किया गया। इसी के इसी के तहत गड़चिरोली शहर में राकांपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विधायक धर्मरावबाबा आत्राम व राकांपा के जिलाध्यक्ष रवींद्र वासेकर के मार्गदर्शन में स्थानीय गांधी चौक में केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाकर निषेध व्यक्त किया गया। राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस के जिलाध्यक्ष शाहीन हकीम के नेतृत्व में महिला पदाधिकारियों ने गैस व दोपहिया वाहन को फूलों  का हार चढ़ाकर प्रतिकात्मक स्वरूप में  श्रद्धांजलि  दी। विशेषत: पिछले आठ माह से बार-बार राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस पार्टी की ओर से पेट्रोल, डीजल, घरेलू गैस व जीवनावश्यक सामग्री के दरवृद्धि  के खिलाफ आंदोलन किया गया। केंद्र व मोदी सरकार तत्काल पेट्रोल, डीजल व गैस के दरवृद्धि  कम नहीं करने पर आगे तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी कार्यकर्ताओं ने दी है। इस समय राकांपा के जिला अध्यक्ष रवींद्र  वासेकर, महिला जिलाध्यक्ष शाहीन हकीम, पूर्व कार्यध्यक्ष बबलू हकीम, पूर्व जिप अध्यक्ष आशा पोहोनेकर, मुख्य सचिव संजय कोचे, महासचिव  जगण जांभुलकर, सेवा दल जिलाध्यक्ष प्रभाकर बारापात्रे, सामाजिक न्याय विभाग जिलाध्यक्ष इंद्रपाल गेडाम, ओबीसी जिलाध्यक्ष विनायक झरकर, प्रेमिला रामटेके, विवेक बाबनवाडे, आशीष कन्नमवार, सलम बुधवानी, प्रशांत कापकर,  रेखा भांडेकर समेत राकांपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

भाजपा सरकार के खिलाफ महाविकास आघाड़ी करेगी आंदोलन 

किसान आंदोलन के दौरान हुई घटना के विरोध में गड़चिरोली के महाविकास आघाड़ी के पदाधिकारियों ने आगामी 11 अक्टूबर को जिला बंद रखने का आह्वान किया है। इस बीच शहर के इंदिरा गांधी चौक में धरना आंदोलन कर भाजपा सरकार के खिलाफ तीव्र प्रदर्शन भी करने की जानकारी शनिवार को  एक पत्र परिषद में महाविकास आघाडी के पदाधिकारियों ने दी। पदाधिकारियों ने पत्रकारों को बताया कि, उत्तर प्रदेश के लखीमपुर (खिरी) में किसान आंदोलन के दौरान गृह राज्यमंत्री के पुत्र ने तेज गति से वाहन चलाया, जिसमें  7 किसानों की  मृत्यु हो गयी। इस घटना का तीव्र विरोध करते हुए सोमवार को समूचा  गड़चिरोली जिला बंद रखने का अाह्वान किया गया है। इस आंदोलन में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, शिवसेना और मित्र पक्ष के सभी पदाधिकारी एकसाथ शामिल होंगे। सुबह 8 बजे बाइक रैली के माध्यम से शहर की सभी दुकानों को बंद किया जाएगा।  बंद जिले के सभी तहसील मुख्यालयों समेत बड़े गांवों में रखा जाएगा। पत्र परिषद में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष महेंद्र ब्राह्मणवाडे, राकांपा जिलाध्यक्ष रवींद्र वासेकर, शिवसेना जिलाध्यक्ष वासुदेव शेडमाके, डा. नामदेव उसेंडी, सुरेश पोरेड्डीवार, पूर्व सांसद मारोतराव कोवासे, आनंद गेडाम समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। 


 

खबरें और भी हैं...