दैनिक भास्कर हिंदी: पूजा चव्हाण आत्महत्या मामले की हो जांच, फडणवीस ने डीजीपी को लिखा पत्र

February 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पुणे में आत्महत्या करने वाली बीड़ की 22 वर्षीय पूजा चव्हाण की आत्महत्या के मामले में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ऑडियो क्लिप्स की जांच की मांग करते हुए विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखा है। फडणवीस ने लिखा है कि ऑडियो क्लिप सभी जगह फॉरवर्ड हो रहे हैं। साथ ही इस मामले को लेकर बंजारा समाज में नाराजगी है। इसलिए इस मामले की विस्तृत जांच की जानी चाहिए। 

फडणवीस ने पत्र में लिखा है कि पूजा चव्हाण की आत्महत्या से जुड़े 12 ऑडियो क्लिप उनके कार्यालय को भी मिले हैं। पत्र के साथ ऑडियो क्लिप भी डीजीपी को भेजी गई है। ऑडियो सुनने से बाद सवाल खड़े होते हैं कि इस बातचीत का मतलब क्या है। क्या उसे आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया है। इसलिए इस पूरे मामले की गहराई से जांच जरूरी है। बंजारा समाज में काफी लोकप्रिय रहीं इस युवती को तुरंत न्याय दिया जाए और दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इसके पर पहले भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिख कर कहा था कि चव्हाण की आत्महत्या के मामले में यवतमाल से विधायक और आप के मंत्रिमडल में शामिल शख्स का नाम सामने आ रहा है।  

चित्रा वाघ का गृहमंत्री पर निशाना

महाराष्ट्र भाजपा की उपाध्यक्ष चित्रा वाघ ने मामले में राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महिला अत्याचारों के मामले में फिलहाल राज्य के गृहमंत्री ‘संजय’ की भूमिका में हैं यानी जो सामने दिख रहा है वहीं देखते रहे और सत्ता में सहयोगियों के क्लीनचिट देते हुए आगे बढ़ते रहे। वाघ ने कहा कि पूजा चव्हाण मामले में मोबाइल और बातचीत का क्लिप मिला है। जिससे साफ होता है कि उसे आत्महत्या के लिए मजबूर करने से लेकर उसका मोबाइल कब्जे में लेने के लिए मंत्री द्वारा अरुण नाम के व्यक्ति को दिए जा रहे निर्देश सभी ने सुने हैं। पुलिस महकमा इस मामले को लेकर अब तक भ्रमित है। पूजा चव्हाण के परिवार पर दबाव हो सकता है इसलिए पुलिस खुद संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज कर सकती है। लेकिन इसके लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत है। वाघ ने मुख्यमंत्री से सवाल किया है कि इतने सबूत होने के बावजूद शिकंजा कसने के बजाय किस चीज का इंतजार किया जा रहा है। 

कुछ पार्टियों के पास दूसरा कोई काम नहीं

मामले में सफाई देते हुए उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि आत्महत्या के किसी भी मामले में पुलिस जांच करती है। आत्महत्या की वजह भी तलाश की जाती है। जांच होगी और इसमें सच्चाई भी सामने आएगी। कुछ पार्टियों के पास कोई काम नहीं है इसलिए इस तरह के आरोप लगाती हैं। आरोप में तथ्य होंगे तो जांच होगी। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले की ओर इशारा करते हुए पवार ने कहा कि इससे पहले हमने देखा कि मुंबई में क्या हुआ वहां आंदोलन हुआ लेकिन बाद में क्या सामने आया यह सबने देखा।   

 

खबरें और भी हैं...