comScore

अब संतरानगरी को बनाया जाएगा पर्यटन और मीट एक्सपोर्ट का हब

अब संतरानगरी को बनाया जाएगा पर्यटन और मीट एक्सपोर्ट का हब

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देते हुए नागपुर को बकरा मांस निर्यात का केंद्र बनाया जायेगा। बकरा मांस निर्यात के लिए यहां आधुनिक सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। राज्य में पशुपालन व्यवसाय के लिए 2000 करोड की योजना का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा गया है। केंद्र व राज्य सरकार की समान आर्थिक सहायता से इस प्रस्ताव पर अमल होगा। पशु संवर्धन व दूग्ध विकास मंत्री सुनील केदार ने जानकारी दी। शनिवार को मिहान में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। रामटेक के सांसद कृपाल तुमाने, महाराष्ट्र पशु व मत्स्य विज्ञान विद्यापीठ के कुलगुर डॉ.आशीष पातुरकर, अतिरिक्त जिलाधिकारी प्रकाश पाटील, प्रादेशिक पशु संवर्धन सह आयुक्त डा.के एस कुंभरे, जिला पशु संवर्धन स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.ए जी ठाकरे, जिला पशु संवर्धन उपायुक्त मंजूषा पुंंडलिक, कस्टम विभाग के विवेक सिरीह, कृषि उपज बाजार समिति के राजेश भुसार, एमआईएल के एमए आबेद रुही, कार्गों के यशवंत सराटकर उपस्थित थे। 

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति

मंत्री केदार ने कहा कि लाकडाउन के बाद ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति देने में पशुसंवर्धन विभाग महत्वपूर्ण साबित होगा। नागपुर देश के मध्य में है। रेलवे, सड़क व हवाई मार्ग से जुड़ा है। अब तक विदर्भ सहित मध्यप्रदेश , राजस्थान, गुजरात से बकरा मांस हैदराबाद ले जाकर निर्यात किया जाता रहा है। कलमना बाजार समिति की जगह पर पशुधन के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र उभारा जाएगा। संरक्षण केंद्र व विमानतल पर दो स्थान पर निर्यात के पहले पशुधन की जांच की जाएगी। पशुसंवर्धन विभाग के बकरीपालन महामंडल को आवश्यक निधि तत्काली मंजूर कर दी जाएगी। कस्टम विभाग के मार्गदशन के अनुसार बकरा काटने, पैकेजिंग व बिक्री आदि के नियमों का कड़ाई से पालन कर निर्यात किया जाएगा। 

संतरानगरी को बनाया जाएगा पर्यटन हब

देश के मध्यवर्ती और विकास के दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण नागपुर को पर्यटन हब बनाया जाएगा। नागपुर का कायापलट कर कोराड़ी में ऊर्जा शैक्षणिक पार्क, भव्य हनुमान मूर्ति स्मारक, सेल्फी प्वाइंट, तालाब सौंदर्यीकरण करने का प्रस्ताव है। फुटाला तालाब में बुद्धिस्ट थीम पार्क, यशवंत स्टेडियम परिसर में विश्व स्तर का अत्याधुनिक नया स्टेडियम, बिजनेस सेंटर बनाया जाएगा। इससे देश-विदेश के पर्यटकोंं का आकर्षण नागपुर की ओर होगा। यह जानकारी जिले के पालकमंत्री व राज्य के ऊर्जा मंत्री डॉ. नितीन राऊत ने दी है। महावितरण के ऊर्जा अतिथिगृह नागपुर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा आयोजित बैठक में वे बोल रहे थे। 

ऊर्जा पार्क से रोजगार के अवसर

पालकमंत्री डॉ. राऊत ने कहा कि, वित्त मंत्री अजित पवार ने अपने बजट में कोराडी में ऊर्जा पार्क प्रकल्प की घोषणा की थी।  ऊर्जा पार्क का उद्देश्य जमीन, पानी और बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध होने से नागपुर के पास कोराड़ी में ऊर्जा के विविध स्रोत और इसका मानवी जीवन में होने वाले उपयोग को ध्यान में रखकर शालेय, महाविद्यालयीन विद्यार्थियों को शिक्षा मिले, मनोरंजन हो और पर्यटन के माध्यम से रोजगार के अवसर निर्माण हो। पर्यटन की दृष्टि से भव्य हनुमान मूर्ति बनाकर पर्यटन का हब बनाने का प्रस्ताव है। प्रसिद्ध वास्तु रचनाकार अशोक मोखा ने योजनाओं का प्रस्तुतिकरण किया। 

इन्होंने रखे विचार 

इस अवसर पर पूर्व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, पूर्व मंत्री राजेंद्र मुलक, विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे, रमन विज्ञान केंद्र के संचालक विजय शंकर शर्मा ने भी विचार रखे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा प्रधान सचिव (ऊर्जा) दिनेश वाघमारे, अध्यक्ष व व्यवस्थापकीय संचालक महानिर्मिति शैला ए., महाऊर्जा संचालक सुभाष डुमरे, नेहरू विज्ञान केंद्र के सूर्यकांत कुलकर्णी, अशोक जोगदे, एफर्ट प्लेनेटोरियम आदि ने विचार रखे। 

कमेंट करें
l2BCK