दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर रेल अस्पताल में भी लगेगा ऑक्सीजन प्लांट - पमरे द्वारा प्रक्रिया शुरू की गई, कोरोना से लडऩे इंतजाम

May 19th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर । रेल प्रशासन द्वारा कोरोना के खिलाफ लड़ाई लडऩे में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। एक तरफ जहाँ लगातार ऑक्सीजन पहुँचाने का काम किया जा रहा है तो वहीं अब रेलवे अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। हाल ही में 4 रेल अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट की अनुमति दी गई जिसमें जबलपुर रेल अस्पताल भी शामिल है। रेल प्रशासन की मानें तो भोपाल, कोटा के साथ ही जबलपुर रेल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। 
पमरे के केंद्रीय चिकित्सालय जबलपुर में 600 लीटर प्रति मिनट, भोपाल में 500 लीटर प्रति मिनट एवं कोटा में भी 500 लीटर प्रति मिनट का ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। ऑक्सीजन प्लांट लगाने से कोविड संक्रमण के मरीजों को समय रहते ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। 
करोड़ों रुपए की लागत से बनेगा प्लांट -  रेल सूत्रों की मानें तो ऑक्सीजन प्लांट बनाने के लिए तय कार्ययोजना के तहत करीब एक करोड़ रुपए से अधिक की राशि व्यय होगी। इस प्लांट के तैयार होने के बाद संभवत: इसे निजी हाथों में सौंप दिया जाए। 
सभी अस्पताल होंगे ऑक्सीजन प्लांट से लैस -  बताया जाता है कि रेलवे की देश भर के 86 रेलवे अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट वृद्धि की योजना है। जिसमें से 4 रेलवे अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट कार्य कर रहे हैं एवं 52 ऑक्सीजन प्लांट को स्वीकृति दे दी गई है। 30 ऑक्सीजन प्लांट की प्रक्रिया विभिन्न चरणों में है।  सभी रेलवे कोविड चिकित्सालय को ऑक्सीजन प्लांट से लैस किया जाएगा। 


 

खबरें और भी हैं...