वन विभाग ने जारी किया अलर्ट, वन्य प्राणियों के रेस्क्यू के लिए सतपुड़ा पार्क से आई टीम: दहशत: देलाखारी और चौरई में बाघ का मूवमेंट, परासिया में तेंदुए ने किया शिकार

October 21st, 2021

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा।  पिछले एक सप्ताह से देलाखारी, परासिया और चौरई में वन्य प्राणी का मूवमेंट बना हुआ है। देलाखारी और चौरई में बाघ की दहशत के कारण पहले से ही वन विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं गुरुवार को परासिया में रावनवाड़ा बीट के अंतर्गत पंचायत सिरगौरी खुर्द में तेंदुए ने मवेशी का शिकार किया है। बाघ के मूवमेंट को देखते हुए देलाखारी के आसपास सतपुड़ा नेशनल पार्क की टीम सर्चिंग कर रही है।
बाघ की दहशत में आधा दर्जन गांव
बम्हनी/झिरपात्न चार दिनों से देलाखारी और झिरपा वन परिक्षेत्र में बम्हनी के आसपास क्षेत्र में बाघ की मौजूदगी से लगभग आधा दर्जन गांव में लोग दहशत में हैं। वन विभाग द्वारा सचेत करने पर टोली बनाकर ग्रामीण रात में रखवाली कर रहे हैं। देलाखारी के उपवन परिक्षेत्र अधिकारी रामप्रसाद पंद्रे का कहना है कि बम्हनी बीट के पी-117 क्षेत्र के आबादी क्षेत्र चारगांव से बाघ ने झिरपा के जंगल की रुख किया है, जिसकी लोकेशन आबादी क्षेत्र कुरंगला, मीराकोटा, पिंडरई के करीबी जंगल में पाई गई। वहीं झिरपा उप परिक्षेत्र अधिकारी राजेन्द्र उइके ने बताया कि वन सुरक्षा समिति के चौकीदार के माध्यम से निगरानी रखी जा रही है।
तेंदुए ने किया बछिया का शिकार
दीघावानी/परासियात्न वन परिक्षेत्र परासिया में रावनवाड़ा बीट के अंतर्गत पंचायत सिरगौरी खुर्द में तेंदुए ने एक मवेशी का शिकार किया है। सिरगौरी खुर्द निवासी पशु पालक परसराम यदुवंशी ने बताया कि सुबह 10 बजे गांव से लगा अपने खेत में दो बैल, एक बछिया चरा रहा था। उसी दौरान जंगल की ओर से आए तेंदुए ने हमला कर दिया। वनरक्षक सुभाष कुसरे सहित वन विभाग की टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर निरीक्षण किया और पंचनामा तैयार किया। घटना स्थल पर पगमार्क नहीं मिले, किन्तु शिकार कर मांस खाने के तरीके से तेंदुआ होने का आंकलन किया है।
शावकों के साथ दिख रही बाघिन
चौरईत्न पिछले एक सप्ताह से सीताझिर और ग्रेटिया के पास बाघिन और 2 शावकों की मौजूदगी बनी हुई है। यहां हरदुआ नर्सरी के पास भी बाघिन कुछ दिन पहले नजर आई थी। जिसके बाद वन अमला भी अलर्ट मोड पर है। जानकारी के मुताबिक पेंच पार्क से निकलकर वन्यप्राणियों ने चौरई के सांख सर्किल को अपना ठिकाना बना लिया है। सांख के ग्रेटिया और सीताझिर के बीच लगातार वन्यप्राणियों की मौजूदगी बनी हुई है।
चौरई से भी ग्रेटिया गया बाघ: 2 दिन पहले चौरई के काराबोह में नजर आया बाघ अब ग्रेटिया की ओर निकल गया है। वन अमले के मुताबिक इसी रूट पर उसके पगमार्क मिले हैं।

खबरें और भी हैं...