दैनिक भास्कर हिंदी: 50 लाख के इनामी कुख्यात नक्सली दम्पति की गिरफ्तारी के बाद गड़चिरोली में रेड अलर्ट

June 13th, 2019

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। गड़चिरोली पुलिस ने नक्सलियों के दंडकारण्य स्पेशल जोन समिति की सदस्य और वेस्टर्न सबजोनल की प्रमुख कुख्यात नक्सली नर्मदक्का उर्फ उप्पुगंटी निर्मलाकुमारी उर्फ नर्मदा दीदी (58) और उसके पति दंडकारण्य पब्लिकेशन टीम के प्रमुख किरण उर्फ किरणकुमार (70) को गिरफ्तार किया है। सोमवार की रात सिरोंचा के बस स्थानक से दोनों इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। इसकी पुष्टि जिला पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने  आयोजित पत्र परिषद में की। 

जिला पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने बताया कि दोनों नक्सलियों पर महाराष्ट्र सरकार ने 50 लाख रुपये का इनाम रखा था। करीब आठ महीने की खुफिया योजना के बाद गड़चिरोली पुलिस के हाथ यह सफलता लगी है। बताया गया कि नर्मदक्का व किरण हाई प्रोफाइल नक्सली होने के कारण जिला पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी को लेकर गुप्तता बरती, लेकिन बुधवार को दोनों की गिरफ्तारी की अधिकृत घोषणा के बाद जिले का नक्सल आंदोलन पूरी तरह बैकफुट पर जाने की उम्मीद व्यक्त करते हुए समूचे जिले में रेड अलर्ट घोषित करने की जानकारी जिला पुलिस अधीक्षक ने इस समय दी। उन्होंने बताया कि, मूलत: आंध्रप्रदेश राज्य के कृष्णा जिले के कोड़ापावनुरू निवासी नर्मदक्का दंडकारण्य स्पेशन जोन समिति की एकमात्र महिला सदस्य है। उसके खिलाफ गड़चिरोली जिले के विभिन्न पुलिस थानों में कुल 65  मामले दर्ज होकर इनमें हत्या, आगजनी, धन उगाही और मुठभेड़ के मामले हैं।

उन्होंने बताया कि सोमवार की देर रात दोनों के सिरोंचा पहुंचने की गुप्त जानकारी पुलिस को मिली थी। जानकारी के आधार पर पुलिस ने सिरोंचा में जाल बिछा कर सिरोंचा बसस्थानक के पास उक्त दोनों को गिरफ्तार किया। कार्रवाई में तेलंगाना पुलिस ने भी जिला पुलिस को सहयोग प्रदान किया है। मंगलवार को गिरफ्तार दोनों कुख्यात नक्सलियों को गड़चिरोली न्यायालय में पेश किया गया। जहां न्यायालय ने उन्हे आगामी 7 दिनों तक पुलिस हिरासत में रखने के निर्देश दिए। बता दें कि, वर्ष 1980  से जारी नक्सल आंदोलन में नर्मदक्का का स्थान शीर्ष कैडर के माओवादियों में है। दंडकारण्य क्षेत्र में समाविष्ट गड़चिरोली समेत गोंदिया, भंड़ारा, छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांदगांव, सुकमा, बिजापुर, जगदलपुर, दंतेवाड़ा आदि इलाकों में नर्मदक्का सक्रिय रही है। 58  वर्षीय नर्मदक्का ने तकरीबन 25  वर्षों से नक्सल आंदोलन में कार्य कर बड़ी संख्या में विध्वसंक वारदातों को अंजाम दिया है। मई 2018 में भामरागढ़ तहसील के कसनासुर क्षेत्र में सी-60 कमांडोस द्वारा एकसाथ 40 नक्सलियों को ढेर करने की घटना के बाद नर्मदक्का की गिरफ्तारी अब तक की सबसे बड़ी सफलता मानी जा रही है।